breaking newsscroll trendingदेश

राजस्थान का सियासी ड्रामा: बहुमत साबित करने पर अड़े गहलोत, आधी रात तक चली कैबिनेट बैठक

 

जयपुर: राज्यपाल से कोर्ट तक मात खाने के बाद अब शोक गहलोत खेमे में हलचल और तेज हो गई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से विधानसभा सत्र बुलाने की अपील की गई है, तो राज्यपाल कलराज मिश्र ने अभी कोरोना संकट का हवाला देते हुए इनकार कर दिया है। इसी बीच गहलोत अपने विधयाकों को लेकर राजभवन पहुंच गए। इससे पहले हाईकोर्ट ने सचिन पायलट गुट को राहत देते हुए विधानसभा स्पीकर के नोटिस पर स्टे लगा दिया था।

सियासी हलचल की पूरी अपडेट

गहलोत कैबिनेट की बैठक खत्म हो गई है। ये बैठक 2 घंटे 20 मिनट तक चली।

मुख्यमंत्री आवास पर गहलोत कैबिनेट की बैठक शुरू हो गई है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजस्थान में जारी सियासी संकट पर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि देश में संविधान और क़ानून का शासन है। सरकारें जनता के बहुमत से बनती और चलती हैं। राजस्थान सरकार गिराने का बीजेपी का षड्यंत्र साफ है. ये राजस्थान के आठ करोड़ लोगों का अपमान है। राज्यपाल को विधानसभा सत्र बुलाना चाहिए ताकि सच्चाई देश के सामने आए।

राजभवन में कांग्रेस विधायकों का धरना खत्म हो गया है। विधायक वापस होटल जा रहे हैं। अशोक गहलोत सीएम आवास पहुंच गए हैं।

रात 9.30 बजे गहलोत कैबिनेट की बैठक होगी। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि अशोक गहलोत के नेतृत्व की सरकार को गिराने की साजिश बीजेपी कर रही है। एक सरकार और मुख्यमंत्री अपना बहुमत साबित करना चाहते हैं। वो विधानसभा सत्र बुलाना चाहते हैं। वह लोगों का मुंह बंद करना चाहते हैं जो कहता है कि कांग्रेस के पास बहुमत नहीं है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राजभवन के अंदर विधायकों का धरना जारी रहेगा।ये धरना तब तक जारी रहेगा जब तक राज्यपाल विधानसभा का सत्र नहीं बुला लेते।

सीएम अशोक गहलोत राजभवन से बाहर आ गए हैं। उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात की। राजभवन से बाहर आने के बाद सीएम गहलोत ने कहा कि राज्यपाल बिना दबाव के इस तरह से कैबिनेट का फैसला मानने से इनकार नहीं कर सकते। हम विधानसभा में बहुमत साबित करना चाहते हैं. कोरोना वायरस पर चर्चा करना चाहते हैं।

राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि शनिवार को सुबह 11 बजे कांग्रेस की तरफ से धरना प्रदर्शन किया जाएगा। सरकार गिराने की बीजेपी की साजिश के खिलाफ ये धरना प्रदर्शन होगा।