देशमध्य प्रदेश

भाजपा के नोटिस पर बोले प्रेमचंद गुड्डू, पहले ही दे चुका पार्टी से इस्तीफा

भोपाल। मध्यप्रदेश में हुए सियासी घमासान में ना सिर्फ सत्ता की बाजी पलटी थी बल्कि सालों पुराने रिश्ते भी बदल गए थे। ऐसे में ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक भले ही भाजपा में आ तो गए लेकिन अभी भी वे कांग्रेस को छोड़ नहीं पा रहे हैं।

दरअसल सत्ता की अदला बदली के दोरान कांग्रेस छोड़ भाजपा में आए वरिष्ठ नेता प्रेमचंद गुड्डू को भाजपा ने नोटिस जारी किया था। जिसके जबाव में प्रेमचंद्र का कहना है कि वे तो 9 फरवरी को ही भाजपा से इस्तीफा दे चुके हैं। हालांकि इस पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा का कहना कुछ और ही है।

latter-

पार्टी को नहीं मिला इस्तीफा 

उन्होंने कहा है कि उन्हें आज तक प्रेमचंद्र का इस्तीफा नहीं मिला है। बता दें कि मध्यप्रदेश में उपचुनाव होना बाकी है। लेकिन यहां उपचुनाव से पहले ही बड़े फेरबदल की आशंका जताई जा रही है। वरिष्ठ नेता प्रेमचंद गुड्डू को पार्टी के खिलाफ बयानबाजी करने के लिए भाजपा ने नोटिस थमा दिया था। साथ ही पार्टी ने प्रेमचंद्र से 7 दिन मेें जबाव देने को भी कहा था।

latter-

कांग्रेस को घर वापसी की उम्मीद 

वहीं प्रेमचंद्र के ऐसे बयानों के बाद कांग्रेस को उम्मीद है कि वे जल्द ही कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। दरअसल प्रेमचंद गुड्डू ने भाजपा के नोटिस का जबाव देते हुए पत्र जारी किया है। जिसमें उन्होंने कहा कि मैं 9 फरवरी को ही भाजपा से इस्तीफा दे चुका हूं। इसके साथ ही गुड्डू ने अपने पत्र में ज्योतिरादित्य सिंधिया और तुलसी सिलावट पर भी आरोप लगाए हैं।