देश

महेश नवमी उत्सव पर होंगे आयोजन, देशभर में होगा सीधा प्रसारण

इंदौर। जीवन का उद्देश्य खोजने की अनंत तलाश एक चुनौती है। यह चुनौती व्यक्ति के साथ ही नहीं परिवारों एवं सामाजिक संगठनों के साथ भी है। हमारे उद्देश्य और नैतिक मूल्य पारदर्शी एवं स्पष्ट हो जाएं तो सामाजिक दायित्व एवं व्यक्तिगत लाभ के बीच एक आवश्यक संतुलन आ जाता है।

यह बात अखिल भारतवर्षीय माहेश्वरी महिला संगठन की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष गीता मूंदड़ा ने माहेश्वरी महासभा राष्ट्रीय महिला संगठन एवं युवा संगठन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित छह दिवसीय महेश नवमी उत्सव के शुभारंभ पर मुख्य वक्ता के रूप में व्यक्त किए। आप ‘श्रेष्ठ जीवन के लिए मन की सुंदरता का महत्व विषय पर संबोधित कर रही थी। महेश नवमी उत्सव का शुभारंभ सभापति श्याम सोनी ने किया। आपने कहा कि प्रकृति ने आज हमें ऑनलाइन टेक्नोलॉजी को समझने एवं सीखने के लिए प्रेरित किया है, आपदाएं हमेशा अवसर लेकर आती हैं। आपने सभी समाज बंधुओं से पीड़ित मानवता की सेवा का संकल्प इस महेश नवमी पर्व पर लेने का आग्रह किया।

6 दिनी महेश नवमी उत्सव पर कई आयोजन होंगे, पूरे देश में होगा सीधा प्रसारण

माहेश्वरी समाज के उत्पत्ति पर्व महेश नवमी के अवसर पर अखिल भारतवर्षीय माहेश्वरी महासभा, माहेश्वरी महिला संगठन एवं माहेश्वरी युवा संगठन के संयुक्त तत्वाधान में 26 से 31 मई तक कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है। महासभा के सभापति श्याम सोनी, महिला संगठन की राष्ट्रीय अध्यक्ष आशा माहेश्वरी एवं युवा संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजकुमार कालिया ने बताया कि 26 मई को इस छह दिवसीय महेश नवमी उत्सव का शुभारंभ राष्ट्रीय महिला संगठन की पूर्व अध्यक्षा गीता देवी मूंदडा के व्याख्यान से होगा। 27 मई को रात 8:00 बजे ऑनलाइन वेबीनार का आयोजन किया गया है जिसमें सुप्रसिद्ध चार्टर्ड अकाउंटेंट अनिल भंडारी सरकार द्वारा कोविड-19 के कारण दिए गए पैकेज की विशिष्ट बातें बताएंगे। 28 मई को शाम 7:00 बजे लाइव सिंगिंग कंसर्ट ष्कौन बनेगा सुपरस्टार का ऑनलाइन आयोजन होगा। 29 मई को रात्रि 8र:00 बजे महिला संगठन की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सुशीला काबरा ‘परिवार और परंपराएं‘ विषय पर ऑनलाइन उद्बोधन देंगी।

महासभा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रामस्वरूप मूंदड़ा ने बताया कि 30 मई को रात 8ः00 बजे महासभा के सभापति श्याम सोनी समाजजन को ऑनलाइन संबोधित करेंगे। इसी दिन प्रत्येक माहेश्वरी परिवारों से यह अपील की गई है कि वे महेश नवमी की पूर्व संध्या पर अपने घरों पर दिए जलाएं। 31 मई को महेश नवमी के दिन कई आयोजन होंगे। सुबह से हर घर में रंगोली मनाई जाएगी एवं भगवान महेश का पूजन तथा आरती का कार्यक्रम होगा। प्रातः 11ः15 देशभर में समाज के हर घर में सामूहिक रूप से महेश वंदना गाई जाएगी। पहली बार ऐसा अनूठा प्रयोग किया जा रहा है। दोपहर 4:00 से 5र:00 बजे तक अवॉर्ड सेरिमनी ऑनलाइन प्रसारित होगी। इसी दिन पंडित विजय शंकर मेहता ‘एक शाम महेश के नाम‘ पर अपना प्रेरणादाई उद्बोधन समाजजनों को प्रदान करेंगे जिसका लाइव प्रसारण संस्कार टीवी पर होगा।