मध्य प्रदेश

ऑड-ईवन फॉर्मूले पर खुलेगा इंदौर, मध्य क्षेत्र रहेगा बंद, होम डिलीवरी पर जोर

इंदौर। लॉकडाउन 4 में केंद्र सरकार की गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए प्रशासन धीरे-धीरे शहर में गतिविधियां बढ़ा रहा है। शासन, जनप्रतिनिधियों, क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप और मीडिया से सलाह करने के आधार पर ऑड-ईवन फॉर्मूले के तहत इंदौर के पहले बाहरी क्षेत्र को खोलने, वहीं राजवाड़ा सहित मध्य क्षेत्र को बंद रखा जाएगा। होम डिलीवरी पर ही अभी अधिक जोर है, जिसके चलते कई रेस्टोरेंट को अनुमति दी जा रही है। वहीं मध्य क्षेत्र सहित अन्य क्षेत्रों में भी किराना, सब्जी सहित अन्य आवश्यक सेवाओं की होम डिलीवरी करवाई जाएगी, ताकि सड़कों या बाजारों में भीड़ ना लगे। वहीं सिनेमा, मॉल, जिम, स्कूल-कॉलेज व छप्पन दुकान आदि क्षेत्रों को जून अंत तक अनुमति नहीं दी जाएगी।

इंदौर में कल रात भी जारी मेडिकल बुलेटिन में 78 और नए पॉजिटिव मरीज मिले, जिसके चलते कुल पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 3260 हो गया और इनमें से आधे हालांकि ठीक होकर घर जा चुके हैं। वहीं फास्ट फूड चैन की होम डिलीवरी भी शुरू करवाई गई। मीडिया से लेकर सभी जनप्रतिनिधियों, शासन व केन्द्र की गाइडलाइन के चलते ही शासन द्वारा फूंक-फूंककर कदम रखे जा रहे हैं, ताकि एकाएक मरीजों की संख्या तेजी से ना बढ़े। अभी जो आर्थिक गतिविधियां शुरू करवाई है, उसके चलते ही शहर में आवाजाही नजर आने लगी और चोईथराम मंडी में भी नीलामी में बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। हालांकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अधिकारियों ने करवाया भी।

डब्ल्यूएचओ ने अभी नई चेतावनी 48 घंटे पहले ही जारी की, जिसमें लॉकडाउन में छूट देने और कुछ शहरों में तेजी से कोरोना मरीजों में उछाल आने की संभावना व्यक्त की है। लिहाजा डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन और अभी केन्द्र द्वारा भी लॉकडाउन-4 के बाद 5 की गाइडलाइन भी जारी होना है। लिहाजा प्रशासन तीन हिस्सों में शहर को खोलने की तैयारी कर रहा है। झोन-1 में शहर का मध्य इलाका मौजूद है, जो सबसे अधिक घना है, जिसमें राजवाड़ा, कपड़ा मार्केट, सराफा, बर्तन बाजार, खजूरी बाजार, मारोठिया से लेकर एमजी रोड, जेल रोड सहित अन्य इलाके शामिल हैं। लिहाजा मध्य क्षेत्र में अभी अत्यावश्यक सेवाओं को ही उपलब्ध करवाया जाएगा। इन क्षेत्रों में स्थानीय किराना दुकान को भी खोले जाने पर विचार किया जा रहा है, ताकि लोगों को वहीं अपने आसपास जरूरी सामान मिल सके। लेकिन इसमें भी होम डिलीवरी पर अधिक जोर रहेगा।

ऑड-ईवन फॉर्मूले के तहत दुकानें खोलने की अनुमति इन क्षेत्रों में दी जाएगी। वहीं झोन-2 में मध्य क्षेत्र से लगे हुए इलाके हैं, लेकिन इनके भी कई क्षेत्र अभी कंटेनमेंट झोन में हैं, जैसे रानीपुरा, सियागंज, रेसकोर्स रोड, पलासिया जो कि नेहरू नगर, एमआईजी और अन्य कंटेनमेंट एरिया से लगा हुआ है, वहां भी अधिक छूट नहीं मिलेगी। अलबत्ता झोन-3, जिसमें शहर का बाहरी इलाका, जिसमें 29 गांव शामिल है, उसमें कलेक्टर ने पिछले दिनों ही कई तरह की गतिविधियों को मंजूरी दी थी, उसे अब और बढ़ाया जा सकता है, लेकिन कलेक्टर के मुताबिक मॉल, सिनेमा, स्कूल, कॉलेज जैसी गतिविधियां जून अंत तक भी मंजूर की जाएंगी। आने वाले दिनों में पॉजिटिव मरीजों की क्या स्थिति रहती है और दी गई छूट के चलते संक्रमण कितना बढ़ा इसका भी अध्ययन किया जाएगा।

Related posts
breaking newsscroll trendingदेशमध्य प्रदेश

फिलहाल लॉकडाउन कि कोई प्लानिंग नहीं : गृह मंत्री

भोपाल : इन दिनों कोरोना वायरस का संकट…
Read more
देशमध्य प्रदेश

महू कुलपति की जांच उच्च शिक्षा विभाग को भेजकर ठंडे बस्ते में डालने की तैयारी

भोपाल। महू के डॉ भीमराव आंबेडकर…
Read more
देशमध्य प्रदेश

नए मंत्रियों को शिवराज की सीख, 1 दिन जरूर करें विभाग की समीक्षा

भोपाल : अपने नए मंत्रियों के साथ…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group