अन्यदेशधर्मव्रत / त्यौहार

गणेश उत्सव पर लगा कोरोना का ग्रहण, मूर्ति विसर्जन नहीं करेगा लालबाग मंडल

कोरोना वायरस का खौफ दिन प्रति दिन बढ़ता ही जा रहा है। जिसकी वजह से सरकार काफी सख्ती दिखा रही है। इसी को देखते हुए इस साल महाराष्ट्र के सबसे मशहूर लालबाग के राजा का विसर्जन नहीं हो पाएगा। दरअसल, इस साल कोरोना का असर गणपति उत्सव पर पड़ता दिखाई दे रहा है। लालबाग मंडल ने कोरोना के कारण ये फैसला लिया है। जानकारी के मुताबिक, कोरोना का सबसे ज्यादा खतरा महाराष्ट्र में है। जिसके चलते ये फैसला लिया गया है कि इस साल गणपति विसर्जन लालबाग मंडल द्वारा नहीं किया जाएगा। वहीं कोरोना को देखते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सभी मंडलों को आदेश दिया था कि इस साल गणपति उत्सव हर साल की तरह न मनाया जाए, क्योंकि इसमें बड़ी तादाद में लोग जमा होते हैं।

ganpati visarjan

आपको बता दे, साथ ही उन्होंने कहा था कि गणपति की मूर्ति की ऊंचाई 4 फीट तक ही रखी जाए। इस आदेश के बाद मंडलों ने सिर्फ 2 मूर्तियां बनाने का फैसला लिया है। जिसमें एक बड़ी मूर्ति और एक छोटी मूर्ति बनाई जाएगी। वहीं पूजन सिर्फ छोटी मूर्ति का ही किया जाएगा। लेकिन लालबाग राजा मंडल की एक ही मूर्ति है। यहां छोटी मूर्ति नहीं है, इसलिए पूजा भी बड़ी मूर्ति की ही की जाएगी। इसी को लेकर लालबाग मंडल के अधिकारियों ने कहा है कि गणपति की लंबाई कम नहीं की जा सकती है। इतना ही नहीं, अगर छोटी मूर्ति भी लाई जाती है तो उसके लिए भी बड़ी तादाद में लोग जमा होंगे। ऐसे में लोगों की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए इस साल न ही कोई मूर्ति होगी, न ही मूर्ति विसर्जन किया जाएगा। वहीं एक और फैसला लेते हुए लालबाग मंडल ने कहा है कि इस बार कोरोना प्रभावित लोगों के लिए काम किया जाएगा। वहीं लालबाग मंडल इस बार गणपति उत्सव को आरोग्य उत्सव के तौर पर मनाएगा। जिसमें प्लाज्मा थेरेपी को मुख्य माना जाएगा। वहीं मौत के मुंह में समाए पुलिसकर्मियों के परिवार की मदद की जाएगी।