भारत के कई इलाकों में लगातार मौसम में तेजी से बदलाव देखने को मिल रहा है। वही देश की राजधानी दिल्ली में भी कुछ दिनों से लगातार तापमान में गिरावट हो रही है। इसके अलावा पहाड़ी इलाकों में देखे तो वहा पर भी सतत बर्फबारी का दौर जारी है। इसी को देखते हुए एक बार फिर से मौसम विभाग ने भीषण बारिश की संभावना जाहिर की है।

दिल्ली में इतना गिरा तापमान

दिल्ली में वायु गुणवत्ता ठीक बनी हुई ही वही तापमान की बात करे तो न्यूनतम तापमान 9 डिग्री कम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। आसमान में धुंध दिखाई देने लगे है। कोहरे के बीच न्यूनतम तापमान के और अधिक गिरने की संभावना जताई गई है।

3 दिन में तापमान बढ़ने की संभावना 

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है। लगातार तापमान में बढ़ोतरी जारी है। अगले सप्ताह तक उत्तर प्रदेश में ठिठुरन बढ़ने की संभावना जताई गई है। बिहार में मौसम की बात करें 3 दिन में तापमान बढ़ने की संभावना जताई गई है। न्यूनतम तापमान 10 डिग्री से नीचे पहुंच सकता है। पटना सहित अन्य जिलों में गलन देखने को मिल रही है। गया को सबसे अधिक ठंडा रिकॉर्ड किया गया है। पहाड़ों से आ रही ठंडी हवाओं से बिहार के मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहे हैं।

हिमपात के साथ साथ हल्की बारिश

जम्मू कश्मीर हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड पंजाब हरियाणा राजस्थान मध्य प्रदेश और बिहार झारखंड में ठंड की तीव्रता देखने को मिली है। इसके अलावा गिलगित बाल्टिस्तान मुजफ्फराबाद लद्दाख जम्मू कश्मीर हिमाचल प्रदेश में आज हिमपात के साथ साथ हल्की बारिश की संभावना जताई गई है।

संपर्क टूटा पूरी तरह से

कई इलाकों में तापमान शून्य के नीचे पहुंच गया है। लोगों को भारी मुश्किल का सामना करना पड़ा लगातार हो रही बर्फबारी से आवागमन प्रभावित हुए हैं। मुख्य शहर से कई जगह का संपर्क पूरी तरह से टूट चुका है। स्थानीय जिला प्रशासन द्वारा हालात को सामान्य करने की कोशिश जारी है।

धुंध और कोहरा 

उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में धुंध और कोहरे से लोगो में ठंड का अनुभव होने लगा है। सुबह और शाम में गलन काफी बढ़ गई है। साथ ही सड़कों पर आवाजाही के बीच अलाव तापते लोग भी नजर आने लगे हैं।

मौसम प्रणाली की बात करें तो पूर्व बंगाल की खाड़ी और आसपास के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र निर्मित हुआ है इसके उत्तर पश्चिम की तरफ बढ़ने से डिप्रेशन में बदलने की संभावना तीव्र हो गई है 21 और 22 नवंबर को कई क्षेत्रों में धुंध और कोहरे जताया गया है।

भारी बारिश का येलो ऑरेंज अलर्ट

दक्षिण आंध्र प्रदेश, रॉयल सीमा के अलग-अलग जगह पर भारी बारिश का येलो ऑरेंज अलर्ट घोषित किया गया। तेज बारिश की आशंका को देखते हुए मछुआरों को भी चेतावनी दी गई है। दक्षिण-पूर्व और उससे सटे दक्षिण पूर्व और पश्चिम बंगाल की खाड़ी और श्रीलंका के तट पर मौसम गतिविधि में तेजी से बदलाव नजर आएंगे।

पंजाब हरियाणा राजस्थान गुजरात में बदलेगा मौसम

पंजाब हरियाणा राजस्थान गुजरात की बात करें तो मौसम में बदलाव का खासा असर देखने को मिलेगा। इन क्षेत्रों में एक तरफ जहां तापमान में भारी गिरावट देखी जाएगी। कुछ क्षेत्र में हल्की बूंदाबांदी भी रिकॉर्ड की जा सकती है। दरअसल पाकिस्तान की तरफ एक निम्न दबाव का क्षेत्र निर्मित हो रहा है। जिसकी वजह से गुजरात राजस्थान पर इसका असर देखने को मिल सकता है।

वही जल्द एक नए सिस्टम के तीव्र होने का भी अलर्ट मौसम विभाग द्वारा जारी किया गया है। एक चक्रवाती परिसंचरण श्रीलंका के तट के ऊपर स्थित है। पश्चिम उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ने के कारण धीरे-धीरे इसके बंगाल की खाड़ी के मध्य भाग में पहुंचने की संभावना जताई गई है। जिसके डिप्रेशन में तब्दील होते ही दक्षिणी राज्यों में बारिश का कहर देखने को मिलेगा। पूरी दक्षिण भारत में छिटपुट सहित भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। 21 से 25 नवंबर के बीच तमिलनाडु, पांडिचेरी कराईकल, आंध्र प्रदेश, रॉयल सीमा सहित उड़ीसा के कई हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश देखने को मिल सकती है।