केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को लाल किले पर ‘जय हिंद’ लाइट एंड साउंड शो का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि, जो इतिहास से नहीं सीखते हैं, वो महान देश की रचना नहीं करते। एक घंटे से कम के समय में शानदार तरीके से भारत का इतिहास समेटा गया। आजादी के अमृतवर्ष में ये कार्यक्रम हो रहा है।

क्या बोले मंत्री शाह?

कार्यक्रम के दौरान गृहमंत्री शाह ने कहा कि, आज ध्वनि और प्रकाश शो में बहुत संक्षिप्त समय में भारत के हजारों साल के इतिहास से लेकर आज तक के कई सारे बोध, कई सारे सीख, कई सारी गौरव लेने वाली बातों को सामंजस्य के साथ यहां पर समाहित करने का काम किया है। इसके लिए मैं पूरी टीम को बधाई देता हूं।

इसके साथ ही उन्होंने ट्वीट किया कि जय हिंद’ शो लाल किले पर आने वाले पर्यटकों को इसके लंबे इतिहास से परिचित करवाने के साथ-साथ 17वीं सदी से आजादी तक के संघर्षों व वीरता की कहानियों को दर्शाता है। साथ ही यहाँ आयोजित ‘मातृभूमि’ शो भारत की हजारों वर्षों की प्राचीन सभ्यता व दर्शन से पर्यटकों को अवगत कराएगा।

17वीं शताब्दी से लेकर आजादी की लड़ाई

इस 1 घंटे के इस लाइट एंड साउंड शो कार्यक्रम में 17वीं शताब्दी से लेकर आजादी की लड़ाई तक की सभी घटनाओं का ब्योरा पेश किया जाएगा. खासकर मराठा, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और आई एन ए आंदोलन पर आधारित कार्यक्रमों को प्रमुखता से इस शो के जरिए दिखाया जाएगा. बता दें कि करीब 5 साल बाद लाइट एंड साउंड शो लाल किले में शुरू होने जा रहा है. आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत इस शो का आयोजन किया जा रहा है.