गुजरात-महाराष्ट्र में भारी बारिश से बिगड़े हालात, कई गांव में अलर्ट जारी, देखें तस्वीरें

देश के कई राज्य इस वक्त कुदरत का कहर झेल रहे हैं. गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तराखंड समेत देश के कई राज्यों में भारी बारिश की वजह से आम जन-जीवन अस्त-व्यस्त. हो गया है।

देश के कई राज्य इस वक्त कुदरत का कहर झेल रहे हैं. गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तराखंड समेत देश के कई राज्यों में भारी बारिश की वजह से आम जन-जीवन अस्त-व्यस्त. हो गया है। कई जगह भूस्खलन की घटना भी सामने आई है। मौसम विभाग ने मुंबई और पुणे समते महाराष्ट्र के 11 जिलों में 14 जुलाई के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। इस बीच गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र भाई पटेल ने नवसारी के अलावा वलसाड़ और डांग जिलों में बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया। राज्य में तीन दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश के कारण गोदावरी नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है और भद्राचलम में तीसरे चेतावनी स्तर पर पहुंच गया है।

Also Read – नगरीय निकाय चुनाव के अंतिम चरण में 72% हुआ मतदान

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने गुरुवार को महाराष्ट्र में उफनती वैतरणा नदी में फंसे एक निर्माण कंपनी के दस श्रमिकों को बचा लिया। एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। मुंबई-वडोदरा एक्सप्रेसवे के निर्माण में लगे जीएम इंफ्रास्ट्रक्चर के कर्मचारी अपने काम के तहत नदी में एक बजरे में घुसे थे, लेकिन पालघर जिले में भारी बारिश के बाद बुधवार को बढ़ते जल स्तर के कारण बहाडोली में फंस गए।महाराष्ट्र के भंडारा जिले के तुमसर में आज एसडीआरएफ की टीम ने 15 लोगों को बचाया। वे वहां बाढ़ के कारण एक मंदिर में फंस गए थे।

मौसम विभाग के मुताबिक 14 तारीख को तेलंगाना और पश्चिमी मध्य प्रदेश में तेज बारिश की संभावना है। वहीं 14 से 17 जुलाई के बीच महाराष्ट्र के विदर्भ में वर्षा होगी। इस बीच छत्तीसगढ़, ओडिशा, कोंकण और गोवा के साथ गुजरात में भी भारी बारिश हो सकती है। गुजरात में अभी बाढ़ से निजात मिलने वाला नहीं है। मौसम विभाग का कहना है कि 14 जुलाई को पंजाब, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा में हल्की से मध्यम वर्षा हो सकती है। वहीं अगले तीन दिनों तक उत्तराखंड में मध्यम से भारी वर्षा के आसार हैं। 15 जुलाई को पश्चमी उत्तर प्रदेश में भी बारिश हो सकती है।