मेटा के एक्सेलेरेटर प्रोग्राम के अंतर्गत GUSEC 10 XR टेक स्टार्टअप्स को देगी सहयोग

अहमदाबाद। गुजरात यूनिवर्सिटी स्टार्टअप एंड एंटरप्रेन्योरशिप काउंसिल (GUSEC) Meta (मेटा) और MeitY स्टार्टअप हब के “XR स्टार्टअप प्रोग्राम” के तहत एक्सटेंडेड रियलिटी (XR) तकनीकों के साथ काम करने वाले 10 स्टार्टअप को सहयोग करेगी।
XR स्टार्टअप प्रोग्राम को XR (ऑगमेंटेड रियलिटी, वर्चुअल रियलिटी और मिक्स्ड रियलिटी) तकनीकों पर काम कर रहे स्टार्टअप्स की पहचान करने और उन्हें प्रोत्साहन देने के लिए एक प्लेटफॉर्म के रूप में कार्य करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। बीते सप्ताह के दौरान Meta(मेटा) और MeitY स्टार्टअप हब द्वारा शुरू किए गए कार्यक्रम में एक एक्सेलेरेटर प्रोग्राम और एक ग्रैंड चैलेंज शामिल है।

जीयुसेक एक्सेलेरेटर प्रोग्राम के अमलकर्ता भागीदारों में से एक है और इसके लिए पश्चिमी भारतीय क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करेगा। यह काउंसिल शिक्षा, सीखने और स्कील(कौशल) में ग्रैंड चैलेंज के लिए समग्र भारत पर ध्यान देगी।

जीयुसेक के ग्रुप CEO राहुल भागचंदानी ने कहा – अपनी स्थापना के बाद जीयुसेक् ने गुजरात के स्टार्टअप इकोसिस्टम को आकार देने और इसे विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। XR स्टार्टअप प्रोग्राम को कार्यान्वित करने के भागीदार के रूप में, हमारा लक्ष्य भारत में युवाओं को भविष्य की प्रौद्योगिकियों के सृजन के लिए सहयोग करना और एक आत्मनिर्भर देश के निर्माण में योगदान देना है।

एक्सेलेरेटर प्रोग्राम के अंतर्गत, GUSEC छह महीने के एक्सेलेरेशन प्रोग्राम के माध्यम से XR टेक्नोलोजी के साथ काम करने वाले 10 स्टार्टअप को सहयोग करेगा; जिसमें, प्रत्येक के लिए 20 लाख रुपये का अनुदान, उद्योग के विशेषज्ञों द्वारा सलाह-सुझाव, संभावित रणनीतिक भागीदारों और निवेशकों तक पहुंच, प्रौद्योगिकी और बुनियादी ढांचे का समर्थन और उद्योग के विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेने और उपस्थित होने के अवसर उपलब्ध कराना शामिल है।

ग्रैंड चैलेंज शिक्षा, सीखने और स्कील(कौशल) क्षेत्र में शुरुआती चरण के XR इनोवेटर्स को अनुसंधान एवं विकास(R&D) चरण से काम करने योग्य उत्पादों और सेवाओं के विकास के लिए प्रोत्साहित करेगा। सबसे पहले, बूट कैंप में भाग लेने के लिए 20 इनोवेटर्स को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा और उन्हें 50,000 रुपये का शॉर्टलिस्ट ग्रांट दिया जाएगा। उनमें से, चार इनोवेटर्स को प्रत्येक को 20 लाख रुपये का अनुदान प्रदान किया जाएगा और न्यूनतम व्यवहार्य उत्पाद (एमवीपी)/प्रोटोटाइप विकसित करने में मदद करने के लिए आगे आवश्यक सहायता दी जाएगी।

XR स्टार्टअप प्रोग्राम के लिए उत्तर में एक्सेरेटर और हेल्थकेयर में ग्रैंड चैलेंज के लिए FITT, IIT दिल्ली; पूर्व में एक्सेरेटर और एग्रीटेक, क्लाइमेट एक्शन, टूरिज्म एंड सस्टेनेबिलिटी में ग्रैंड चैलेंज के लिए सिक्किम मणिपाल युनिवर्सिटी और दक्षिण में एक्सेरेटर और गेमिंग और मनोरंजन में ग्रैंड चैलेंज के लिए CIE-IIIT हैदराबाद… अन्य अमलकर्ता भागीदार संस्थान है।

Also Read: Indore: युवाओं को मिला रोजगार मेले का लाभ, विभिन्न पदों पर नौकरी के लिये 189 आवेदकों का हुआ चयन

एक्सेलेरेटर प्रोग्राम के लिए आवेदन 13 अक्टूबर तक और ग्रैंड चैलेंज के लिए 13 अक्टूबर तक खुले हैं। आवेदन gusec.edu.in/xr पर किए जा सकते हैं। अन्य भागीदारों के लिए आवेदन https://meitystartuphub.in/public/xr-startup-program लिंक के माध्यम से प्राप्त किए जा सकते हैं।