सरकार अब नशा करने के लिए देगी मुफ्त सीरिंज, ये है वजह

नशा करने वालों के लिए सरकार हाल ही में एक बड़ा फैसला लेने जा रही है। दरअसल, एम्स के राष्ट्रिय औषधि निर्भरता उपचार केंद्र के सीनियर डॉक्टर प्रो अतुल अंबेकर ने बताया कि सिरिंज से नशा करने वाले युवाओं में एचआईवी और एड्स का खतरा बढ़ रहा है।

0
15
injection

नशा करने वालों के लिए सरकार हाल ही में एक बड़ा फैसला लेने जा रही है। दरअसल, एम्स के राष्ट्रिय औषधि निर्भरता उपचार केंद्र के सीनियर डॉक्टर प्रो अतुल अंबेकर ने बताया कि सिरिंज से नशा करने वाले युवाओं में एचआईवी और एड्स का खतरा बढ़ रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि गाजियाबाद स्थित केंद्र की ओपीडी में हर दिन नशे के आदी लगभग 150 मरीज आते हैं। जिसमें से करीब 10 से 15 प्रतिशत मरीज सिरिंज से नशा करने वाले होते हैं।

उन्होंने बताया कि इनमें से लगभग पांच से 10 फीसद मरीजों में एचआईवी या फिर एड्स के संक्रमण पाए जाते हैं। बता दे कि, जागरूकता व नियमित उपचार से गर्भवती महिलाओं से शिशुओं में होने वाले एचआईवी संक्रमण के मामलों में कमी आई है। लगातार युवा पीढ़ी इन रोगों की चपेट में आ रही है।

इसी पर डॉ अतुल अंबेकर ने बताया कि सिरिंज से नशा करने वालों मरीजों को एड्स व एचआइवी से बचाने के लिए निःशुल्क सिंरिंज उपलब्ध कराई जानी चाहिए ताकि कम से कम उन्हें जानलेवा बीमारी से बचाए जा सकें। उन्होंने बताया कि सरकार की इस मामले में बाकायदा नीति भी है।

इसके तहत निःशुल्क सिरिंज की योजना को और बढ़ाए जाने की उम्मीद है। दरअसल, विश्व एड्स दिवस पर सोशल इंपावरमेंट विलेजर्स एसोसिएशन, आयुषधाम शोध संस्थान एवं राष्टधर्म फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में इंडिया गेट पर जागरूकता रैली भी आयोजित की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here