रिटायरमेंट की उम्र और पेंशन की राशि बढ़ा सकती है सरकार, आर्थिक सलाहकार समिति ने जारी किया प्रस्ताव

प्रधानमंत्री मोदी की आर्थिक सलाहकार समिति का कहना है कि देश में रिटायरमेंट की उम्र बढ़ाने के साथ हैं अब यूनिवर्सल पेंशन सिस्टम को भी शुरू करना चाहिए।

केंद्र सरकार जल्द ही कर्मचारियों को बड़ी खुशखबरी दे सकते हैं। क्योंकि अब रिटायरमेंट की उम्र और पेंशन की राशि बढ़ाई जाने को लेकर मंथन चल रहा है। उसके बाद प्रधानमंत्री मोदी की आर्थिक सलाहकार समिति की ओर से प्रस्ताव जारी किया गया है। अब देश में लोगों के काम करने की उम्र भी बढ़ाई जा सकती है। प्रधानमंत्री मोदी की आर्थिक सलाहकार समिति का कहना है कि देश में रिटायरमेंट की उम्र बढ़ाने के साथ हैं अब यूनिवर्सल पेंशन सिस्टम को भी शुरू करना चाहिए। इस दौरान आर्थिक सलाहकार समिति ने देश के सीनियर सिटीजन की सुरक्षा को और भी बेहतर बनाने की सिफारिश करते हुए कहां है कि कर्मचारियों को हर महीने कम से कम ₹2000 की पेंशन की सुविधा दी जाना चाहिए।

आपको बता दें कि रिपोर्ट में कहा गया है कि केंद्र सरकार और राज्य सरकारों की ऐसी नीतियां बनाने की आवश्यकता है जिससे कि कौशल विकास किया जा सके। इसके लिए प्रयास में असंगठित क्षेत्र के साथ ही दूर इलाकों में रहने वाले और प्रवासियों को भी जोड़ना चाहिए। जिनके पास ट्रेनिंग हासिल करने के साधन नहीं होते हैं, लेकिन उनका ट्रेन होना जरूरी है। इसीलिए इस योजना से उनका जुड़ना जरूरी है।

Must Read- इंदौर : प्रदेश के पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए सुनहरा मौका, विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन में कर सकेंगे फॉरेंसिक साइंस की पढ़ाई
हालांकि रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर काम करने की उम्र की आबादी को बढ़ाना है तो सेवानिवृत्ति की उम्र बढ़ाने की बहुत ही जरूरत है। लेकिन सामाजिक सुरक्षा प्रणाली पर दबाव कम करने के लिए ऐसा हों सकता है। इस दौरान 50 साल से ऊपर के व्यक्तियों के लिए भी स्किल डेवलपमेंट की बात सामने आई है। लेकिन कहा जा रहा है कि कर्मचारियों के रिटायरमेंट की उम्र और पेंशन की राशि बढ़ाई जा सकती हैं और इसके लिए पीएम की आर्थिक सलाहकार समिति की ओर से प्रस्ताव भी जारी किया गया है।