मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और राज्यवर्धन दत्तीगांव की प्रेसवार्ता करते हुए बोले कि आप सब का असाधारण सहयोग रहा। इंदौर तो ग्लोबल हो ही गया। कुछ लोग तो गलियां देखने निकले की कचरा मिलेगा पर स्वच्छ्ता पर हमें गर्व है। 84 देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिए जिसमे जी 20 के भी शामिल। 10 पार्टनर देस थे, 35 देश के दूतावास।

2 सिन में 2000 से अधिक बैठक में 50000 से अधिक निवेशकों ने अनेको सेक्टर के लोग। बी 2 जी 1150 से अधिक बैठक। 215 से अधिक व्यापारिक समुदायों से संपर्क हुआ जो लाभदायक रहेगा। भारत सहित 2 देशों के राष्ट्रपति शामिल हुए। समृद्ध उपस्थिति है इंटेंशन इन्वेस्टमेंट जो आये है, 6 लाख 9 हजार 878 करोड़ के अनये।

लॉजिस्टिक में 16916 करोड़ के, कपड़ा 16914 करोड़। इन सभी सेक्टर में और प्रदेश के हर सेक्टर में निवेश आये। अगर, मालवा, रीवा शहडोल, मालवा निमाड़, जबलपुर, ग्वालियर चंबल में निवेश के प्रस्ताव प्राप्त हुए है। 20 सेक्टर के प्रेजेंटेशन थे उसमे चर्चा से समस्याएं सामने आई.छोटे इन्वेस्टर्स ने मांग की प्लग एन्ड प्लेस मिले जो छोटे निवेशकों के लिए जरूरी है उसे हम सरकारी स्तर पर फेसेलिटी हम देंगे।

इन्वेस्ट एमपी के नाम से हम पोर्टल बनाएंगे, और उसके आधार पर समस्या का हल करेंगे।में भी उसे देखूंगा। परमिशन जो अलग अलग प्रकार की है , बिल्डिंग, जमीन, एनओसी सब उसमे भटकने की जरूरत नही उसके लिए परमिशन के लिए भटकने की आवश्यकता नही है 3 साल तक , बस नियम प्रक्रिया कर पालन करना होगा नही तो कानून अपना काम करेगा। कुल 15 लाख 42 हजार 550 करोड़ का निवेश आया है।