इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में दो दिवसीय ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन हो रहा है। इंदौर के ब्रिलियंट क्नेंशन सेंटर में हो रहे आयोजन का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअली शुभारम्भ किया। इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दुनिया भर के प्रतिनिधियों का स्वागत किया। CM शिवराज ने कहा है कि देश में आई.टी. का अगला डेस्टीनेशन इंदौर होगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअली संबोधित करते हुए कहा- विकसित भारत के लिए मध्यप्रदेश का महत्व है। आस्था, पर्यटन से एग्रीकल्चर और स्किल डेवलपमेंट तक एमपी अजब भी है और गजब भी है और सजग भी है। मध्यप्रदेश में यह समिट ऐसे समय हो रही है, जब भारत की आजादी का अमृत काल शुरू हो चुका है।

Also Read – Global Investors Summit 2023 : मध्यप्रदेश के ऊर्जा विभाग के सौर ऊर्जा प्रोजेक्ट में सूडान के ग्रुप ने दिखाई रुचि

अडानी एग्रो ऑयल एवं गैस के प्रणव अडानी ने कहा उनके समूह की प्रदेश में खनिज, ऊर्जा, कृषि, नवकरणीय ऊर्जा और कोयले के क्षेत्र में 60 हजार करोड़ के निवेश की योजना है। मुख्यमंत्री ने स्थानीय युवाओं को रोजगार में प्राथमिकता देने के संबंध में चर्चा के दौरान अडानी ने कहा यह हमारा कर्तव्य है। समूह अपनी आवश्यकताओं के अनुसार युवाओं को प्रशिक्षित करने के लिए राज्य में कौशल उन्नयन की गतिविधियां संचालित करेगा, समूह का राज्य में अस्पताल खोलने का भी विचार है।

आईटीसी ग्रुप के संजीव पुरी ने कहा कि निवेश आमंत्रित करने के क्षेत्र में मध्यप्रदेश अन्य राज्य की तुलना में अधिक सक्रिय है। इंदौर में विकास का उदाहरण प्रस्तुत किया है। संजीव पुरी ने कहा कि प्रदेश में आईटीसी द्वारा 300 एफपीओ संचालित किए जा रहे हैं। इनका विस्तार कर 1000 एफपीओ स्थापित करने का लक्ष्य है, इसमें 1500 करोड़ का निवेश होगा। आईटीसी समूह प्रदेश में पैकेजिंग और खाद्य प्रसंस्करण इकाई स्थापित करने जा रहा है। पैकेजिंग इकाई इस वर्ष के अंत तक आरंभ हो जाएगी।

11 और 12 जनवरी को होने वाले इस समिट में 84 देशों के 447 अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं। इसके अलावा, इसमें सभी जी-20 के प्रतिनिधि, 5 हजार से ज्यादा उद्योगपति और प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। आज यानि बुधवार शाम चार से साढ़े 5 बजे तक आईटी, पर्यटन, लॉजिस्टिक एंड वेयर-हाउसिंग, अर्बन एरिया में इंफ्रा-स्ट्रक्चर डेवलपमेंट विषय पर सत्र होंगे।