कानपुर पुलिस कमिश्नर के पद से ऐच्छिक सेवानिवृत्ति लेने के बाद पूर्व आईपीएस असीम अरुण ने आज आधिकारिक तौर पर भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। बताया जा रहा है कि उन्होंने आज BJP प्रदेश कार्यालय पर प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह, भाजपा के यूपी प्रभारी अनुराग ठाकुर की मौजूदगी में सदस्यता ली हैं। ऐसे में उनका स्वागत करते हुए अनुराग ठाकुर ने कहा कि असीम अरुण प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा सरकार की नीतियों से प्रभावित होकर पार्टी में आ रहे हैं। इसलिए में उनका स्वागत करता हूँ।

उन्होंने आगे कहा कि उनके करियर पर अब तक एक भी दाग नहीं लगे है। असीम के अनुभव से बीजेपी आगे बढ़ेगी। इसके अलावा अनुराग ठाकुर ने सपा पर भी निशाना साधते हुए कहा कि दंगा करवाने वाले लोग सपा में और दंगाइयों को पकड़वाने वाले लोग भाजपा में शामिल होते हैं। उन्होंने आगे कहा कि सपा बदमाशों को टिकट देती है। हमारे साथ बदमाशों को सजा देने वाले आ रहे हैं। आगे उन्होंने इसको लेकर बताया कि सपा की सूची के पहले प्रत्याशी नाहिद हसन कल जेल गए। एक नेता अब्दुल्ला आजम कल बेल पर आए हैं।

सपा में जेल और बेल वाले प्रत्याशी हैं। हमारे पास बेदाग लोग आ रहे हैं। इसके अलावा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने इस खास मौके पर कहा कि आईपीएस असीम अरुण के पिता श्रीराम अरुण डीजीपी रह चुके हैं। ऐसे में उनका परिवार शोषितों और वंचितों के सम्मान के लिए काम करता रहा है। इतना ही नहीं उन्होंने एसटीएफ के मुखिया रहते हुए 45 आतंकियों और नक्सलियों को पकड़ा है।

वहीं खुद असीम अरुण ने खास मौके पर कहा कि मैंने पिछले पांच साल में यूपी 112, एटीएस और कानपुर के पुलिस कमिश्नर के पद पर काम किया है। इसलिए मैंने इन पदों पर रहते हुए मुझे कभी भी किसी अपराधी को छोड़ने के लिए किसी नेता का फोन नहीं आया है।

आगे उन्होंने बताया कि एक बड़े आतंकी को मारने के लिए मुझे पुलिस का सबसे बड़ा सम्मान मिला। उन्होंने कहा मैं बाबा साहब अम्बेडकर को प्रणाम करता हूं। देश में बाबा साहब की वजह से दलितों और वंचितों को सम्मान मिला है। वहीं बीजेपी में शामिल होने पर उन्होंने कहा भाजपा में शामिल होकर मैं दलितों और वंचितों के लिए काम करूंगा। मैं राजनीति में रंगरूट हूं कोई गलती हो तो क्षमा कीजिएगा।