पञ्च तत्व में विलीन हुए पूर्व सीएम कैलाश जोशी, हाट पीपल्या में दी गई अंतिम विदाई

0
33

भोपाल। देवास जिले के छोटे से कस्बे हाट पीपल्या की हर सड़क सोमवार को सिर्फ एक ही दिशा में जाती दिखाई दे रही थी और वह जगह थी पूर्व मुख्यमंत्री और जन-जन के प्रिय नेता स्व. कैलाश जोशी का अंत्येष्टि स्थल। हाथों में फूल लेकर और आंखों में आंसू लिये हर व्यक्ति अपने प्रिय नेता की एक झलक पाने और उन्हें विदाई देने को आतुर दिख रहा था। शहर की सड़कें कैलाश जोशी अमर रहे के नारों से गूंज रही थी। एक विधायक और मुख्यमंत्री के रूप में कई बार इस कस्बे के लोगों ने जोशी जी का स्वागत किया था, लेकिन जोशी जी की अंतिम यात्रा के रास्ते पर बिछे फूल बता रहे थे कि उन सभी स्वागतों पर यह विदाई भारी रही है।

पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री स्व. कैलाश जोशी की अंत्येष्टि सोमवार को हाट पीपल्या में पूर्ण राजकीय सम्मान के साथ संपन्न हुई। उनकी अंतिम यात्रा दोपहर करीब ढाई बजे निज निवास से रवाना हुई। यात्रा में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चैहान एवं प्रदेश सरकार की ओर से मंत्री सज्जनसिंह वर्मा, बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता और नागरिक शामिल थे।

अपने प्रिय नेता की अंतिम यात्रा के रास्ते में स्थानीय नागरिकों ने जगह-जगह मंच से पुष्पवर्षा की और अभिवादन करके विदाई दी। ‘कैलाश जोशी अमर रहे’ के नारों से पूरा कस्बा गूंज उठा। नगर के मुख्य मार्ग से होते अंतिम यात्रा दोपहर करीब 3.00 बजे अंत्येष्टि स्थल पहुंची, जहां स्व. जोशी के छोटे बेटे योगेश जोशी ने मुखाग्नि देकर अंतिम संस्कार संपन्न किया। अंत्येष्टि स्थल पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में स्व. जोशी जी को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।
उंगली पकड़कर कार्यकर्ताओं को चलाने वाले देवलोक चले गए: राकेश सिंह

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह ने कहा कि श्रद्धेय कैलाश जोशी जी ने सामाजिक व राजनीति क्षेत्र में बहुत उचाइयों तक पहुंचकर सफलताएं अर्जित की। वह उन गिने-चुने लोगों में से एक थे जिन्होंने सफलता को सार्थकता में बदला और जिन्हें राजनीति की फिसलन भरी राह में संत की उपाधि दी गई। श्रद्धेय जोशी जी ने निस्वार्थ भाव से प्रदेश की सेवा व पार्टी कार्यकर्ताओं का निर्माण इसी भाव से किया। उन्होंने कहा कि जोशीजी ने उंगली पकड़कर कार्यकर्ताओं को उंचाइयों तक पहुंचाया और आज वह देवलोक को चले गये। मैं भाजपा परिवार और लाखोंलाख कार्यकर्ताओं की ओर से उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हॅू।

जो उन्हें जानता था, प्रशंसा ही करता था: नरेंद्र सिंह तोमर

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि जो व्यक्ति जोशी जी को जानता था वह उनकी प्रशंसा किए बिना नहीं रहता था। आधुनिक युग में काम करने वाले लोग यदि जोशी जी के जीवन के पढ़ लेंगे तो अपने सामाजिक जीवन को सार्थक कर सकते हैं और अपने उद्देश्य की पूर्ति कर सकते हैं। जोशी जी ने अपने कृतित्व और व्यक्तित्व से देश में एक बड़ा स्थान पाया है। सुचिता और ईमानदारी के लिए उन्हें देश भर में जाना जाता था। उनका त्याग, समर्पण, सादा जीवन उच्च विचार हमेशा याद रखे जाएंगे।

एक राजनीतिक युग का अंत हो गयाः शिवराज सिंह चैहान

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा कि आज एक राजनीतिक युग का अंत हो गया। जोशी जी के बारे में पूछा जाए तो एक ही उत्तर होगा कि राजनीति के संत कैलाश जोशी हैं। उनके क्षेत्र में भी उन्हें जोशी बाबा के नाम से जाना जाता था। गरीब की झोपड़ी में जाकर राबड़ी पी लेते थे। मैंने अपने जीवन में एक ही ऐसा नेता देखा जो चुनाव में भी गलत कार्य के लिए डांट दिया करते थे।

सौहार्द्र की राजनीतिक पाठशाला थे जोशी जीः नंदकुमार सिंह चैहान

सांसद नंदकुमार सिंह चैहान ने कहा कि जोशी जी सुचिता की मिसाल जोशी जी सौहार्द की राजनीतिक पाठशाला भी थे। उनका सभी दलों के लोग सम्मान करते थे, क्योंकि वे अपने चरित्र के बल पर दलों की सीमाओं के उपर थे।

एक शिक्षक, मार्गदर्शक चला गया: गोपाल भार्गव

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि ईमानदारी, सादगी और दल के प्रति निष्ठा जोशी जी के पर्यायवाची गुण थे। आज मेरे जीवन से एक शिक्षक और मार्गदर्शक चला गया।

अजातशत्रु शब्द को सार्थक कियाः कैलाश विजयवर्गीय

राष्ट्रीय महासचिव श्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि ‘अजातशत्रु’ शब्द को कैलाश जोशी जी ने सार्थक किया। उन्होंने ईमानदारी और चरित्र के बल पर अपनी विचारधारा को समाज सेवा का माध्यम बनाकर समाज की सेवा की।

देवास जिले का नाम पूरे देश में पहुंचाया: सज्जनसिंह वर्मा

मध्यप्रदेश शासन के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि आदरणीय जोशी जी एक ऐसा व्यक्तित्व थे, जिन्होंने देवास जिले के नाम को पूरे देश में पहुंचाया। मैं मुख्यमंत्री कमलनाथ, मंत्रिमंडल और समस्त कांग्रेसजनों की ओर से स्वर्गीय जोशी जी के श्रीचरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। मैं ईश्वर से कामना करता हॅू कि ऐसी पुण्य आत्माएं पृथ्वी पर भेजते रहें ताकि वे हमारा मार्गदर्शन करते रहें। श्रद्धांजलि सभा को पार्टी पदाधिकारी सहित अन्य वरिष्ठों ने भी संबोधित किया।

अंतिम यात्रा में प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत, प्रदेश उपाध्यक्ष अरविंद भदौरिया, सुर्दशन गुप्ता, प्रदेश महामंत्री मनोहर उंटवल, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, प्रदेश प्रवक्ता चिंतामन मालवीय, उमेश शर्मा, चेतन कश्यप, जिला अध्यक्ष नंदकिशोर पाटीदार, दिलिप शेखावत, दिलीप सिंह परिहार, जगदीश देवड़ा, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विभाग प्रचारक दिनेश तेजरा, कैलाश चंद्रावत, अजय गुप्ता, मनोज चैधरी, पहाड़ सिंह, कमल पटेल, ओमप्रकाश सखलेचा, रायसिंह सेंधव, नरेंद्र सिंह राजपूत, सुभाष शर्मा, राजेन्द्र वर्मा, दौलत तंवर, फूलसिंह चावड़ा, मनोज राजनी, शौकत हुसेन सहित बड़ी संख्या में पार्टी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here