गाड़ी पर नहीं लगाया फास्टैग तो अब भी है मौका, बढ़ी तारीख

राष्ट्रीय हाइवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने टोल प्लाजा पर टोल वसूलने में आने वाली परेशानी को दूर करने के लिए नया इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम लागू किया है, जिसे फास्टैग कहते है।

0
81

नई दिल्ली : राष्ट्रीय हाइवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने टोल प्लाजा पर टोल वसूलने में आने वाली परेशानी को दूर करने के लिए नया इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम लागू किया है, जिसे फास्टैग कहते है। फास्टैग स्कीम 2014 में देश में लागू कर दी गई थी और अब इसे पूरे देश में लागू किया जा रहा है। फास्टैग से टोल प्लाजा पर बिना रुके टोल का भुगतान हो सकेगा इसके लिए वाहन पर फास्टैग लगाना होगा।

इसको गाड़ी पर लगाने की अंतिम तिथि 1 दिसंबर तक ही थी। लेकिन अब सरकार ने तारीख को 15 दिनों तक बढ़ाने का निर्णय लिया है। सके तहत अब बिना फास्टैग वाहनों के फास्टैग लेन में प्रवेश पर 15 दिसंबर तक कोई जुर्माना नहीं वसूला जाएगा। इससे पहले 1 दिसंबर के बाद फास्टैग लेन में प्रवेश करने वाले बिना फास्टैग लगे वाहनों से दोगुना टोल वसूलने का प्रावधान किया गया था। दरअसल, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने सभी वाहन निर्माताओं, डीलरों और वाहन मालिकों को फास्टैग का उपयोग अनिवार्य रूप से करने के निर्देश दिए है।

ऐसे करेगा फास्टैग काम – जब भी आप फास्टैग लगे वाहन के साथ टोल प्लाजा को पार करेंगे आपके फास्टैग के जरिये टोल कट जाएगा और आपके पास एसएमएस से सूचना आ जाएगी कि आपके फास्टैग अकाउंट से कितनी राशि काटी गई है।

फास्टैग बनवाने के लिए जरुरी दस्तावेज –

वाहन का पंजीकरण प्रमाण पत्र {आरसी}
वाहन मालिक की पासपोर्ट साइज तस्वीर
वाहन मालिक के KYC दस्तावेज
वाहन मालिक के वो दस्तावेज जिन पर स्थाई पता हो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here