देश में सर्विस इंडस्ट्री में नौकरी की तलाश करने वालों के लिए अच्छी खबर है. एक तरफ दुनिया के कई देशों में छंटनी का दौर जारी है वहीं भारत में मजबूत बिजनेस सेंटीमेंट के चलते सर्विस इंडस्ट्री से जुड़ी कंपनियां जबरदस्त हायरिंग करने वाली हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक सर्विस इंडस्ट्री में 77 फीसदी एम्पलॉयर 2022-23 की चौथी तिमाही जनवरी से मार्च के बीच नई हायरिंग करने की योजना बना रही हैं.

एचआर फर्म टीमलीज के एम्पलॉयमेंट आउटलुक रिपोर्ट के मुताबिक ने तीसरी तिमाही में भी 73 फीसदी एम्पलॉयर ने ये बात कही थी. 14 शहरों में 14 प्रकार के सर्विस इंडस्ट्री में 573 छोटी, मीडियम और बड़ी कंपनियों को रिपोर्ट में कवर किया है. ये हायरिंग एंट्री, जूनियर, मिड और सीनियर सभी लेवल पर होंगी. साथ ही मेट्रो, टीयर-1 , टीयर-2 और टीयर -3 शहरों के साथ ग्रामीण इलाकों के लिए भी ये हायरिंग की जाएगी.

सर्विसेज और मैन्युफैक्चरिंग में 68 फीसदी एम्पलॉयर ने पॉजिटिव हायरिंग सेंटीमेंट जाहिर किया है. वहीं प्रमुख मार्केट में भारतीय सर्विस इंडस्ट्री में 68 फीसदी हायरिंग करने की योजना बनाई है. एशिया पैसेफिक में 48 फीसदी और अमेरिका में ये संख्या 48 फीसदी है.

भारत में सर्विस सेक्टर में 98 फीसदी ई-कॉमर्स एम्पलॉयर्स हैं. जिसके बाद टेलीकम्यूनिकेशन 94 फईसदी, एजुकेशनल सर्विसेज 93 फीसदी, फाइनैंशियल सर्विसेज 88 फीसदी, रिटेल 85 फीसदी और लॉजिस्टिक्स 81 फीसदी शामिल है.

रिपोर्ट के मुताबिक 82 फीसदी बड़ी कंपनियां, 61 फीसदी छोटी कंपनियां और 50 फीसदी मीडियम इंटरप्राइजेज ने हायरिंग करने की इच्छा जाहिर की है. टीमलीज सर्विसेज के चीफ बिजनेस ऑफिसर मयूर तडय ने कहा कि दुनिया के अन्य देशों में हायरिंग पर फ्रीज है या छंटनी हो रही है लेकिन भारत में सेंटीमेंट में लगातार सुधार देखा जा रहा है.