नहीं चला प्रियंका का जादू, जहां किया प्रचार वहां हारी पार्टी | Congress Priyanka Gandhi Magic Fails, Lose where Priyanka Gandhi did Campaign…

0
87

लखनऊ: लोकतंत्र के महापर्व में भाजपा को मिली प्रचंड बहुमत और देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस को मिलो करारी हार के चर्चे चारो तरफ हो रहे है। मोदी लहर में हाल ही में राजनीति में कदम रखने वाली प्रियंका गांधी का कोई खास प्रभाव देखने को नहीं मिला। चुनाव से मात्र तीन महीने पहले मोर्चा सँभालने वाली प्रियंका का राजनीतिक गलियारों में कोई लाभ नहीं मिला।

राजनीति में कदम रखने के बाद प्रियंका को पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभार सौंपा था। चुनाव प्रचार में प्रियंका ने कुल 38 रैलियां की थी जिसमे से 26 रैलियां केवल यूपी में की थी। इसके अलावा बाकी रैलियां मध्य प्रदेश, दिल्ली, झारखंड और हरियाणा में की थी। प्रियंका गांधी ने जितनी सीटों पर प्रचार किया था, उनमें से 97 फीसदी सीटों पर कांग्रेस हार गई है।

प्रियंका गांधी को जिस क्षेत्र का प्रभाव दिया गया था उसमे 41 लोकसभा सीटें आती है। इन सीटों में कई वीआईपी सीटें भी शामिल हैं, जैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वाराणसी सीट या फिर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गोरखपुर सीट, गांधी नेहरू परिवार की अमेठी और रायबरेली सीट आदि।

स्पष्ट नतीजे आने के बाद साफ़ हो गया कि उत्तर प्रदेश में प्रियंका का जादू नहीं चल पाया है। भाजपा कांग्रेस के सबसे मजबूत किले को ढहाने में कामयाब रही है। कांग्रेस की परंपरागत सीट रही अमेठी में स्मृति ईरानी ने अपना कब्जा कर लिया है। हालांकि सोनिया गांधी रायबरेली से जीतने में कामयाब रही।

2014 की बात करे तो उस समय कांग्रेस मात्र दो सीटें जीतने में कामयाब रही थी, जिनमे अमेठी और रायबरेली शामिल थी। उस समय भाजपा ने राज्य में कुल 73 सीटें जीती थी। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 80 लोकसभा सीटें है। कहा जाता है कि दिल्ली की सत्ता का रास्ता उत्तर प्रदेश से ही होकर गुजरता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here