दूध की जली कांग्रेस गोवा में छाछ भी फूँक फूँक कर पी रही, उम्मीदवारों से करवा रही ऐसा काम

कांग्रेस ने गोवा में पार्टी उम्मीदवारों को ईश्वर के सामने ये शपथ दिलाई है कि वे चुनाव जीत जाने के बाद दल नहीं बदलेंगे। आपको बता दे गोवा में कांग्रेस के 34 उम्मीदवार हैं और पार्टी ने सभी उम्मीदवारों को उनके उनके पूजा स्थलों और धर्म स्थलों पर ले जाकर ‘‘दल बदल के खिलाफ’’(against defection) शपथ दिलाई गई।

पणजी। पिछले कुछ दिनों से पांच राज्यों में चुनावी(elections in five states) महाकुम्भ होने की वजह से देश में अजीब अजीब राजनीतिक घटनाक्रम देखने को मिल रहें हैं। इसी कड़ी में एक घटना हाल ही में गोवा की राजनीति(Goa politics) में घटित हुई जिससे लगता हैं कि कांग्रेस को अपनी ही पार्टी के उम्मीदवारों पर भरोसा नहीं रहा।

दरअसल दलबदलू नेताओं से परेशान कांग्रेस ने गोवा में पार्टी उम्मीदवारों को ईश्वर के सामने ये शपथ दिलाई है कि वे चुनाव जीत जाने के बाद दल नहीं बदलेंगे। आपको बता दे गोवा में कांग्रेस के 34 उम्मीदवार हैं और पार्टी ने सभी उम्मीदवारों को उनके उनके पूजा स्थलों और धर्म स्थलों पर ले जाकर ‘‘दल बदल के खिलाफ’’(against defection) शपथ दिलाई गई।

कांग्रेस पार्टी से गोवा के चुनाव पर्यवेक्षक वरिष्ठ नेता पी.चिदंबरम(Goa’s election observer senior leader P.Chidambaram) भी इस दौरान उम्मीदवारों के साथ रहें। वहीं गोवा कांग्रेस कमेटी (जीपीसीसी) के अध्यक्ष गिरिश चोडानकर ने इसे लेकर कहा कि लोगों के मन में भरोसा पैदा करने के लिए उम्मीदवारों को ईश्वर के समक्ष शपथ दिलाई गई।

आखिर कांग्रेस को ऐसा क्यों करना पड़ा?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 2017 में राज्य में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी थी। क्योंकि राज्य की कुल 40 विधानसभा सीटों के लिए हुए चुनाव में अकेले कांग्रेस को सबसे ज्यादा 17 सीटों पर जीत मिली थी। लेकिन अब अगर विधान सभा में पार्टी के सदस्यों की बात करें तो वो केवल दो ही हैं बाकी सब दल बदल चुके हैं।