कांग्रेस नेत्री व मध्य प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष शोभा ओझा का इस्तीफा, प्रदेश सरकार पर लगाए आरोप

मध्य प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष शोभा ओझा का पद से इस्तीफा , मध्य्प्रदेश सरकार पर लगाए आरोप अन्य मंचों व माध्यमों से जारी रहेगी महिलाओं के हक़ की लड़ाई

कांग्रेस नेत्री व मध्य प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। ये जानकारी उन्होंने एक प्रेसवार्ता के माध्यम से कही साथ ही शोभा ओझा ने मध्यप्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश सरकार में महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता शून्य हो चुकी है। राज्य महिला आयोग को भंग करने की कोशिशें प्रदेश सरकार के द्वारा की जा रही है जोकि दुर्भाग्यपूर्ण है । उन्होंने पुलिस की असंवेदनशीलता और अकर्मण्यता के लिए प्रदेश की शिवराज सरकार को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के अधिकारों की लड़ाई मैं पहले भी लड़ती रही हूँ आगे भी लड़ती रहूंगी।

Read More : MP News : अब पेपरलेस मिलेगा बिजली बिल, मोबाइल पर ऐसे आ जाएगा ई-बिल

ये आरोप लगाए प्रदेश सरकार पर

कांग्रेस नेत्री व मध्य प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने कहा कि महिलाओं पर होने वाले अत्याचारों का विरोध वो काफी लम्बे समय से कर रही हैं साथ ही उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष, महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष, कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता और मध्य प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग की चेयरपर्सन के रूप में मैंने हमेशा महिलाओं के हक की आवाज उठाई है। उन्होंने कहा कि मैं मध्य प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रही हूं। साथ ही कहा कि मध्य प्रदेश महिला आयोग, प्रदेश सरकार द्वारा अधिकारविहीन और शक्तिहीन बना दिया गया है। इसलिए मैं उक्त आयोग की अध्यक्ष के पद का त्याग कर रही हूँ।

Read More : Aradhya के बारे में पूछे जाने पर Aishwarya करती है ऐसे रिएक्ट, पढ़े पूरी खबर

जारी रहेगी महिलाओं के हक़ की लड़ाई

उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष पद से त्यागपत्र का उद्देश्य केवल बिना किसी दबाव व भेदभाव के महिलाओं के अधिकारों के लिए अन्य मंचों व माध्यमों से लड़ाई जारी रखना है ,जोकि मध्य प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष रहते सम्भव नहीं हो पा रहा है।