जम्मू कश्मीर में अमरनाथ गुफा के पास शाम करीब 5:30 बजे बादल फट गया. इस दुर्घटना में 12 लोगों की मौत हो गई और कई लोग लापता है. 40 लोग लापता हैं. एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और आईटीबीपी की टीम राहत और बचाव कार्य में लगी हुई है.

बादल फटने की वजह से पानी का सैलाब टैंटों के बीच बह रहा था. यह देखते ही श्रद्धालुओं में अफरा-तफरी मच गई और कहीं लोग इसकी चपेट में आ गए. बचाव कार्य में लगे टीम इस बात की जानकारी जुटा रही है कि कहीं लोग वह तो नहीं गए हैं. जानकारी के मुताबिक बालटाल के रास्ते पर आईटीबी और एनडीआरएफ की टीम को लगाया गया था और वहां मौजूद लोगों को सुरक्षित निकालने की कोशिश चल रही है. जल्द ही श्राइन बोर्ड की ओर से हेल्पलाइन नंबर जारी किया जाएगा. जिन लोगों के परिजन यात्रा पर गए हैं वह उस नंबर से जानकारी ले सकेंगे.

Must Read- सातवां वेतन आयोग: 18 महीने के बकाया DA पर बड़ी खबर, कर्मचारियों को मिलेगा इतना पैसा

बताया जा रहा है कि 8 से 10 हजार लोग यात्रा में शामिल थे. अचानक से हादसा हो गया और अफरा-तफरी मच गई. घटना का स्थान अमरनाथ गुफा के बिल्कुल पास ही मौजूद है. आस-पास मौजूद टीम को रवाना करते हुए बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है. अभी तक 12 लोगों की मौत की खबर सामने आई है लेकिन यह कंफर्म नहीं है कि कितने लोगों की मौत हुई है जो कि वहां कितने लोग मौजूद थे यह तय नहीं हुआ है.

रेस्क्यू ऑपरेशन को लेकर भी कई चुनौतियां सामने आ रही है वहां की भौगोलिक स्थिति और ऊंचाई एक बड़ी चुनौती है. लेकिन जवान पूरी तरह से प्रशिक्षित है और हर समस्या से निपटने की कोशिश में लगे हुए हैं. रेस्क्यू करने के बाद लोगों को किस जगह पर ले जाया जाएगा इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आई है हालांकि कहा जा रहा है कि वहां बहुत से काम है जहां पर लोगों को लेकर जाएंगे.