Breaking News

धनतेरस पर खरीदें ये खास चीजें, कभी नहीं होगी धन की कमी

Posted on: 04 Nov 2018 14:12 by Rakesh Saini
धनतेरस पर खरीदें ये खास चीजें, कभी नहीं होगी धन की कमी

दिवाली के त्यौहार को लेकर पूरे देश  भर में तैयारीया चल रही है। सोमवार को धनरतेरस है ​इस दिन खरीदारी करना बहुत शुभ माना जाता है और इस मौके पर हर व्यक्ति खरीदारी करता है। इस दिन हर व्यक्ति कुछ ना कुछ चीजों की खरीदारी करता ही है। क्या आपकों पता है धनतेरस के दिन क्या और किस मुहूर्त में कौन सी चिजों को खरीदना चाहिए। आइए जानते है इन चीजों के बारे में…

धनतेरस के दिन करें इन वस्तुओं की खरीदारी:

1. पान का पत्ता: धनतेरस के दिन पूजा में इस्तेमाल करने के लिए पान का पत्ता जरूर खरीदें. दरअसल, ऐसी मान्यता है कि पान के पत्ते में देवी देवताओं का वास होता है. ऐसे में इस दिन पान के पत्ते की खरीदारी करना शुभ होता है।

via

2. सुपारी : धनतेरस के दिन सुपारी की खरीदारी भी शुभ मानी जाती है. इस द‍िन पूजा में इस्‍तेमाल की गई सुपारी को अपनी त‍िजोरी में रखा जाता है. इससे धन में वृद्ध‍ि होती है।

via

3. कपूर: इस दिन कपूर जरूर खरीदें. कपूर की खुशबू और उससे निकलने वाली ऊर्जा से घर की नकारत्‍मकता समाप्‍त होती है. यही नहीं कपूर मन को शांत भी करता है. मां लक्ष्‍मी, भगवान कुबेर देव और भगवान धनवंतरि की पूजा में इसे विशेष रूप से इस्‍तेमाल किया जाता है।

via

4. खील और बताशे: धनतेरस के द‍िन खील और बताशे जरूर खरीदें. खील और बताशे मां लक्ष्‍मी को अत‍ि प्र‍िय है. इस द‍िन खील बताशे जरूर चढ़ाएं. अगले द‍िन खील की एक पोटली बनाकर अपने भंडार गृह में रख दें. ऐसी मान्‍यता है क‍ि घर का भंडार कभी खत्‍म नहीं होता और मां अन्‍नपूर्णा की कृपा बनी रहती है।

via

5. धन‍िया: धनतेरस के द‍िन मां लक्ष्‍मी को धन‍िया भी चढ़ाया जाता है. इस द‍िन चढ़ाए गए ध‍न‍िया को द‍िवाली के अगले द‍िन बोया जाता है. कहा जाता है क‍ि धन‍िए का पौधा अगर अच्‍छा और ख‍िला हुआ न‍िकला है तो इसका अर्थ यह होता है क‍ि पूरा साल आर्थ‍िक रूप से अच्‍छा रहने वाला है।

via

6. दीया: धनतेरस और द‍िवाली को रोशनी और प्रकाश का त्‍योहार कहते हैं. इस द‍िन दीप खरीदना और दीप दान करना शुभ माना जाता है. धनतेरस के द‍ि‍न मां लक्ष्‍मी के पास एक दीया, मां तुलसी के पास एक, घर की चौखट पर दो और एक यम देव के ल‍िए दीया जलाएं. कहा जाता है क‍ि इससे यमदेव प्रसन्‍न होते हैं और मृत्‍यु का भय नहीं होता।

via

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com