कलेक्टर के निर्देश पर अवैध कॉलोनी पर चला बुलडोजर, एफआईआर भी होगी दर्ज

कमला नेहरू नगर के पास स्थित 5 एकड़ जमीन पर अवैध कालोनी काट कर नोटरी और कच्ची लिखा पढ़ी कर प्लाट बेचे जा रहे थे। कलेक्टर मनीष सिंह को मल्हारगंज तहसीलदार द्वारा मामले की जांच कर विस्तृत रिपोर्ट सौंपी, जिसमें ये फर्जीवाड़ा साबित हुआ।

इंदौर: अवैध कालोनियों के खिलाफ कार्रवाई की श्रृंखला में आज जिला प्रशासन ने इंदौर शहर के वार्ड 9 में आने वाले गाडराखेड़ी क्षेत्र में विकसित की जा रही एक अवैध कॉलोनी पर बुलडोजर चलवाया और मौके पर किया गया अतिक्रमण हटवाया। ऑपरेशन भूमाफिया के तहत कलेक्टर मनीष सिंह के मार्गदर्शन में प्रशासन द्वारा लगातार कार्यवाही की जा रही है। पिछले दिनों कलेक्टर को शिकायत मिली थी कि गाडराखेड़ी स्थित 5 एकड़ जमीन पर अवैध कॉलोनी भूमाफिया दिनेश साहू, अजय सिंह ठाकुर उर्फ बबली ठाकुर, बंते यादव सभी बाणगंगा निवासी के साथ योगेश काला व अन्य द्वारा काटी जा रही है।

Must Read- Honey Trap: खूबसूरती के जाल में फंसा सेना का जवान, पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लिए करने लगा जासूसी
तहसीलदार मल्हांरगंज अनिल जैन ने बताया कि दरअसल यह जमीन मनोरमा खासगीवाल और माधुरी गोडबोले के नाम पर राजस्व रिकॉर्ड में दर्ज है और इन दोनों की मृत्यु हो चुकी है। इनका कोई वारिस ना होने के चलते भूमाफियाओं की नजर इस खाली जमीन पर पड़ी और अपने नाम से फर्जी दस्तावेज तैयार कर लिए और पिछले कुछ दिनों से अवैध कॉलोनी का निर्माण शुरू कर दिया। मौके पर सीमेंट कंक्रीट की सड़क के साथ अन्य विकास कार्य बिना अनुमति के ही शुरू हो गए। नगर तथा ग्राम निवेश से न तो अभिन्यास मंजूर करवाया गया और ना ही निगम के कॉलोनी सेल से विकास अनुमति ली गई।

Must Read- बिजली मंत्रालय Discoms के बकाए को खत्म करने की स्कीम पर कर रहा काम, Consumer को बड़ी मिलेगी राहत

कमला नेहरू नगर के पास स्थित 5 एकड़ जमीन पर अवैध कालोनी काट कर नोटरी और कच्ची लिखा पढ़ी कर प्लाट बेचे जा रहे थे। कलेक्टर मनीष सिंह को मल्हारगंज तहसीलदार द्वारा मामले की जांच कर विस्तृत रिपोर्ट सौंपी, जिसमें ये फर्जीवाड़ा साबित हुआ। जिसके आधार पर आज कलेक्टर ने इस अवैध कॉलोनी पर बुलडोजर चलवाया। अब एसडीएम द्वारा नगर निगम को एफआईआर दर्ज करवाने के लिए पत्र भी लिखा जा रहा है।