आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि लगातार 7 मासिक JLR को नुकसान देखने को मिला। इसके अतिरिक्त कंपनी नेम 106 मिलियन डॉलर के घाटे की बात भी कही गई. वो भी कर से पहले और वही कंपनी ने अपनी कारों के आर्डर की बात भी कही है जिसमें लगभग 205000 कारों के आर्डर है, जिसके साथ ही कंपनी टाटा की बहुत सी कंपनियों में से एक कंपनी है.

जेएलआर यानी जैगुआर रेंज रोवर ने दुनिया भर में सेमीकंडक्टर की कमी के कारण सबके सामने एक जरूरी फैसला सुनाया है जिसके चलते उन्होंने बोला है कि ब्रिटेन में प्रोडक्शन में कमी करेंगे वह भी मार्च के अंत तक। साथ ही रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि कंपनी के द्वारा जनवरी और मार्च के बीच हेलवुड के कारखानों और सोलिहूल के उत्पादन में भी कमी की जाएगी। कंपनी के मुताबिक उन्होंने रेंज रोवर और रेंज रोवर स्पोर्ट के नए मॉडल को बनाने का काम कम कर दिया हैं.

Also Read – Gujarat Polls Live Update: गुजरात में 93 सीटों पर वोटिंग जारी, PM मोदी ने लाइन में लगकर डाला वोट

जानिए कंपनी की डिटेल्स

आपको ये बता दें कि जेएलआर को जगुआर रेंज रोवर लिमिटेड कहा जाता है। दरसअल यह कंपनी एक ऑटोमोबाइल कंपनी है जो स्पोर्ट का लग्जरी कार्स आदि का प्रोडक्शन करती है और कोवेंट्री, यूके और व्हिटली में इसका मुख्यालय स्थित है। इसके लग्ज़री cars दुनिया भर में ज्यादा फेमस और लग्जरी होने के कारण ही दुनियाभर में रईस लोग इसे पसंद करते हैं।

2020, जो कि कोविड दौर रहा हैं, उस वक्त दुनिया भर में बहुत से कंपनियों में नुकसान देखने को मिला, और इन्ही में से ऑटो इंडस्ट्री सेमीकंडक्टर में भी कमी देखने को मिली, वहीं लगातार 7 मासिक जेएनआर में नुकसान देखने को मिला। हालांकि कंपनी ने अपने मैन्युफैक्चर और सेल में सुधार की आशंका भी ज़ाहिर की और साथ ही उन्होंने लगभग दो लाख से ज्यादा कारों के ऑर्डर की जानकारी भी दी.

Disclaimer: इस खबर में लिखी/बताई गई सूचनाएं और जानकारी सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Ghamasan.com किसी भी तरह की पुष्टि नहीं करता है.