भारतात्मा अशोक जी सिंघल वेद पुरस्कार, 18 अप्रैल को दिल्ली में सम्मानित होंगे वेद विद्वान

सिंघल फाउण्डेशन, उदयपुर द्वारा स्व. अशोकजी सिंघल की स्मृति में प्रदान किए जाने वाले इस राष्ट्रीय वेद पुरस्कार का प्रमुख उद्देश वैदिक क्षेत्र में उत्कृष्टता की पहचान करना हैं। वैदिक क्षेत्र में यह एक सर्वोच्च राष्ट्रीय वेद पुरस्कार है

सिंघल फाउण्डेशन, उदयपुर द्वारा स्व. अशोकजी सिंघल की स्मृति में प्रदान किए जाने वाले इस राष्ट्रीय वेद पुरस्कार का प्रमुख उद्देश वैदिक क्षेत्र में उत्कृष्टता की पहचान करना हैं। वैदिक क्षेत्र में यह एक सर्वोच्च राष्ट्रीय वेद पुरस्कार है, जो प्रतिवर्ष उत्तम वेद विद्यार्थी, आदर्श वेदाध्यापक, उत्तम वेदविद्यालय और वेदार्पित जीवन पुरस्कार की चार श्रेणियों में प्रदान किया जाता हैं।

Read More : सफाईकर्मियों के लिए खुशखबरी , Ujjain में अब Robot की मदद से की जाएगी सीवर की सफाई

जिसमें क्रमशः तीन, पांच, सात और पांच लाख रुपये की राशि प्रदान की जाती है। भारतात्मा वेद पुरस्कार की स्थापना 2017 में हुई। 2017 में इस पुरस्कार की प्रथम श्रृंखला के पुरस्कार प्रदान किए गए थे। यह पुरस्कार प्रतिवर्ष सितम्बर/अक्टूम्बर माह में प्रदान किए जाते हैं। वर्ष-2020 और वर्ष-2021 में पुरस्कार की तृतीय एवं चतुर्थ श्रृंखला के लिए देशभर से आवेदन आमंत्रित किए गए थे, परन्तु कोविडकाल की वजह से विगत दो वर्षों में यह पुरस्कार प्रदान नहीं किए जा सके।

Read More : जम्मू के कटरा में दिग्विजय सिंह! वैष्णों देवी के दर्शन करेंगे पूर्व CM

अब यह भारतात्मा वेद पुरस्कार 18 अप्रैल 2022 को सांय 5:30 बजे पूज्य संत गोविन्ददेव गिरीजी के सान्निध्य में चिन्मय मिशन हॉल, नई दिल्ली में प्रदान किए जाएंगे। इस पुरस्कार वितरण समारोह के मुख्य अतिथि भारतीय लोकसभा के अध्यक्ष माननीय ओम बिड़ला होंगे तथा समारोह में विशिष्ट अतिथि प्रधानमंत्री की आर्थिक परिषद के अध्यक्ष बिबेक डिब्रॉय होंगे।

Source : PR