बेंगलुरु: सड़क पर जाम में फंसा डॉक्टर, मरीज को बचाने के लिए 3 किमी लगाई दौड़, सोशल मीडिया पर जमकर हो रही तारीफ़

बेंगलुरु के एक डॉक्टर डॉक्टर गोविंद नंदकुमार ने मरीज को बचने के लिए 3किमी तक यानी 45 मिनट तक दौड़ लगाई। उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु पिछले कुछ समय से चर्चा में बनी हुई है। शहर में भारी बारिश की वजह से बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं। जलभराव के चलते कई इलाकों में सड़कें बंद हैं तो कहीं भारी जाम लगा हुआ है। बेंगलुरु की सड़कों पर जाम की स्थिति कैसी है? इस बात का अंदाजा आप वायरल हो रही एक खबर से लगा सकते हैं। खबर है कि जाम में फंसे एक डॉक्टर को अपनी मरीज की जान बचाने के लिए तीन किलोमीटर दौड़ लगानी पड़ी। चलिए आपको बताते हैं पूरा मामला क्या है।

बेंगलुरु के डॉक्टर गोविंद नंदकुमार इस वक्त खबरों में बने हुए हैं। उन्होंने जो काम किया है वो बाकी डॉक्टरों के लिए मिसाल बन गया है। दरअसल, गोविंद नंदकुमार, मणिपाल हॉस्पिटल में गैस्ट्रोएंट्रोलॉजी के सर्जन हैं। उन्हें 30 अगस्त को अपनी एक मरीज की इमरजेंसी लैप्रोस्कोपिक गॉलब्लैडर सर्जरी करनी थी। डॉक्टर सही समय पर घर से निकले थे, लेकिन वह सरजापुर-माराथल्ली के बीच जाम में फंस गए। वह काफी देर जाम में फंसे रहे। महिला की सर्जरी सही समय पर करना जरुरी था, देर होने पर उनकी जान को खतरा हो सकता था। इसलिए डॉक्टर ने दौड़ लगाकर हॉस्पिटल जाने का फैसला किया।

गोविंद नंदकुमार तीन किलोमीटर दौड़ लगाकर हॉस्पिटल पहुंचे। डॉक्टर की टीम ने मरीज की सर्जरी के लिए पूरी तैयारी कर रखी थी। जैसे ही डॉक्टर ऑपरेशन थिएटर में पहुंचे उनकी टीम हरकत में आ गई। जिसके बाद समय पर मरीज की सर्जरी हुई।

डॉक्टर गोविंद नंदकुमार ने दौड़ लगाने के दौरान अपना एक वीडियो भी बनाया था, जिसे उन्होंने शनिवार को अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है। डॉक्टर का यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। वीडियो वायरल होने के बाद ही घटना लोगों की नजरों में आईं।

Also Read: गृह मंत्री अमित शाह से पूर्व सीएम अमरिंदर की मुलाकात, इस अहम मुद्दों पर हुई बात

एक इंटरव्यू में घटना के बारे में बात करते हुए डॉ गोविंद नंदकुमार ने कहा, “जाम में फंसने के बाद गूगल मैप पर चेक किया तो अस्पताल पहुंचने में 45 मिनट का समय दिखा रहा था। इसके बाद मैंने अस्पताल की दूरी चेक की, जो गूगल मैप लगभग तीन किलोमीटर दिखा रहा था। इसके बाद मैंने कार छोड़ी और बिना कुछ सोचे-समझे हॉस्पिटल की तरफ दौड़ लगा दी।”