B’day Specl: भारत का वो वैज्ञानिक जिससे डरता था अमेरिका

0
19

नई दिल्ली: भारत के मशहूर परमाणु वैज्ञानिक डॉक्‍टर होमी जहांगीर भाभा का आज जन्मदिन है। भाभा उन वैज्ञानिकों में से एक थे जिनके नाम से अमेरिका भी कांपता था। भाभा भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में अपने काम और अपने स्‍वभाव को लेकर खासा मशहूर थे। भाभा ने ही भारत के परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम की कल्पना की थी। उन्होने मुट्ठी भर वैज्ञानिकों की सहायता से मार्च 1944 में न्‍यूक्लियर एनर्जी पर रिसर्च प्रोग्राम शुरू किया था।

अमेरिका भाभा से इतना दर गया था कि उसने भाभा को मार दिया। दरअसल, अमेरिका को इस बात का डर था कि कहीं भारत उससे आगे न निकल जाए। 24 नवंबर 1966 को फ्रांस के माउंट ब्‍लैंक के आसमान में एक विमान क्रैश हुआ और इसमें मौजूद सभी यात्री मारे गए। इसमें से एक थे डॉक्‍टर होमी जहांगीर भाभा। अमेरिका ने इस प्लान के जरिए भाभा को मारा था।

अक्टूबर 1965 में भाभा ने ऑल इंडिया रेडियो से घोषणा की थी कि अगर उन्हें छूट मिले तो भारत 18 महीनों में परमाणु बम बनाकर दिखा सकता है। वह मानते थे और काफी आश्‍वस्‍त भी थे कि अगर भारत को ताकतवर बनना है तो ऊर्जा, कृषि और मेडिसिन जैसे क्षेत्रों के लिए शांतिपूर्ण नाभिकीय ऊर्जा कार्यक्रम शुरू करना होगा। इसके अलावा भाभा यह भी चाहते थे कि देश की सुरक्षा के लिए परमाणु बम भी बने। हालांकि यह उनका छिपा हुआ अजेंडा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here