वृद्ध व विधवा पेंशनधारकों के लिए अनिवार्य हुआ आधार प्रमाणीकरण, धनराशि का मिलेगा लाभ, ऐसे करे लिंक

इस वित्तीय वर्ष में दोनों योजनाओं के लाभार्थियों को एक भी किश्त नहीं मिली। जनवरी से मार्च तक की आखरी किस्त आई थी लेकिन अब आधार प्रमाणीकरण के चलते पेंशन रुक गई है।

अलीगढ़: वृद्ध एवं विधवा पेंशन धारकों के लिए बड़ी खबर है। वित्तीय वर्ष में वृद्धा एवं विधवा पेंशनधारकों की एक भी किस नहीं आई है। इस वित्तीय वर्ष में लाभार्थियों के लिए लिंक जरूरी कर दी गई है। जिसके चलते वृद्धावस्था व विधवा पेंशन योजना के 1.03 लाख लाभार्थी ऐसे है जिनकी पेंशन रुकी हुई है। आपको बता दें कि वृद्धावस्था व विधवा के लाभार्थियों की पेंशन पेज में फस गई है। जिले में दोनों योजनाओं के करीब 1.03 लाख लाभार्थी हैं और इस वित्तीय वर्ष में दोनों योजनाओं के लाभार्थियों को एक भी किश्त नहीं मिली। जनवरी से मार्च तक की आखरी किस्त आई थी लेकिन अब आधार प्रमाणीकरण के चलते पेंशन रुक गई है।

सरकार द्वारा दी जा रही पेंशन का लाभ लेने वाले लाभार्थियों की संख्या की बात करे तो, इसमें वृद्धावस्था पेंशन के 61000 लाभार्थी हैं और सरकार इन्हें हर महीने करीब ₹1000 की राशि देती है। वही विधवा पेंशन के कुल 42000 लाभार्थी हैं और इन्हें भी हर महीने ₹1000 की राशि दी जाती है। विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश सरकार ने जनवरी से मार्च तक की धनराशि इन योजनाओं के लाभार्थियों के खाते में करीब ₹3000 रूपये डाल दी थी। हालांकि फिर चुनाव के बाद सरकार में दोनों योजनाओं के लाभार्थियों के लिए आधार प्रमाणीकरण मतलब केवाईसी से जुड़ी प्रक्रिया पूरी करना अनिवार्य कर दिया और अब 2 महीने से यह प्रक्रिया भी चल रही है। इस दौरान योजन का लाभ लेने वाले विधवा पेंशन योजना और वृद्धावस्था पेंशन योजना के 1.03 लाख लाभार्थी है।

Must Read- पेंशनभोगियों के लिए बड़ी खबर, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन करने जा रहा है ये बदलाव

हालांकि सरकार द्वारा अनिवार्य किया गया आधार प्रमाणीकरण का काम भी बहुत धीमी रफ्तार से चल रहा है। वृद्धावस्था पेंशन के 61000 लाभार्थियों में से अभी तक मात्र 30000 ने ही अपनी आधार फीडिंग कराई है तो वहीं विधवा पेंशन योजना में भी मात्र 20,000 के करीब लाभार्थीयों ने आधार फीड कराए हैं। समाज कल्याण विभाग जिला प्रोबेशन विभाग की ओर से आधार प्रमाणीकरण की प्रक्रिया को जल्दी पूरा करने के लिए गांव और देहात में भी कैंप लगाए जा रहे हैं। इस दौरान लोगों से भी अपील की जा रही है कि वह भी जल्द ही अपना आधार फीड कराएं। हालांकि अभी शासन स्तर पर कई लोगों की पेंशन रुकी हुई है, लेकिन जुलाई के अंत तक आधार फीड कराने वाले लोगों के खाते में ₹3000 की पहली धनराशि आ सकती है। जिन लोगों के आधार फीड नहीं हुए हैं, वह इस बार इससे वंचित रह सकते है, इस बार उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा।

आधार प्रमाणीकरण के लिए पेंशनर वेबसाइट https://sspy-up.gov.in पर आधार प्रमाणीकरण करा सकते हैं। इसके लिए जन सुविधा केंद्र, साइबर कैफे, निजी इंटरनेट या फिर अपने स्वयं के मोबाइल से ही आधार प्रमाणीकरण की प्रक्रिया को पूरी कर सकते हैं। हालाकि पेंशन धारकों से विशेषतौर पर कहा गया है कि जल्द से जल्द अपना आधार फीड करा लें और अगर कोई भी लाभार्थी आधार फीड नहीं कराता है। तो वह पेंशन से वंचित रह जाएगा। जुलाई के अंत तक पेंशन की किस्त जारी होने की उम्मीद है और इसके लिए लाभार्थियों को जल्द से जल्द इस सुविधा का लाभ लेने के लिए अपना आधार फीट कराना अनिवार्य होगा।