झारखंड के बोकारों में एक प्रौढ़ आदमी अपना धर्म और नाम गुप्त रख नाबालिग युवती से ब्याह करने उसके घर पहुंच गया. साथ ही जयमाला प्रोग्राम के बाद ही मौके पर पुलिस पहुंच गई जिसे देखते ही प्रौढ़ आदमी मौके से तुरंत ही फरार हो गया. पुलिस ने युवती के परिवारजनो को बताया कि आरोपी पहले भी जेल जा चुका है. झारखंड के बोकारो में एक अधेड़ व्यक्ति अपना पूरा नाम बदलकर नाबालिग युवती से ब्याह करने के लिए उसके घर पहुंच गया लेकिन वरमाला के बाद पुलिस को देखते ही शादी छोड़कर वहां से तुरंत फरार हो गया.

प्रौढ़ व्यक्ति ने नाबालिग युवती के गरीब घरवालों को खुद के पुलिस अधिकारी होने का प्रलोभन दिया था जिसके बाद नाबालिग युवती के घरवाले भी शादी करने के लिए तैयार हो गए थे. ये उक्त पूरी घटना बोकारो के हरला थाना क्षेत्र की है. जहां एक प्रौढ़ शख्स ने बारात लेकर शादी के लिए नाबालिग लड़की के घर पहुंच गया और जयमाला का प्रोग्राम भी हो गया. लेकिन इसी समय किसी ने पुलिस को सूचना दे दी कि नाबालिग लड़की की शादी कराई जा रही है जिसके बाद पुलिस उसे रोकने के लिए विवाह वाले स्थान पर आ पहुंची।

पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद ही ये प्रौढ़ आदमी की पोलपट्टी नाबालिग युवती के घरवालों के सामने खुल गई और उसकी सच्चाई सबके सामने आ गई, जिसे सुनकर ही सब लोग हैरान हो गए. वास्तव में अधेड़ (उम्र करीब 50 साल) अपना धर्म और नाम छुपाकर नाबालिग युवती से विवाह करने पहुंचा था और उक्त एक मामले में वो पहले भी जेल की सजा काट चुका था. मौके पर पुलिस को देखते ही अधेड़ दूल्हा सबकुछ छोड़कर वहां से तुरंत रफूचक्कर हो गया.

Also Read – Salman Khan ने Aishwarya Rai के लिए इस एक्ट्रेस को दिया था धोखा, बच्चन परिवार की बहु की इस अदा के थे कायल

साथ ही पुलिस ने घरवालों को बताया कि अधेड़ दूल्हा पहले भी चास थाना क्षेत्र की एक घटना में जेल की सजा काट चूका हैं. और वह इसी तरह झांसा देकर निर्धन हिन्दू परिवार की लड़कियों को फंसाने का काम करता है. पुलिस ने अधेड़ के ऑल्टो कार को बरामद कर लिया है जिसमें पुलिस की नकली वर्दी भी पाई गई है.

जानकारी के अनुसार नाबालिग युवती की मां 6 महीने पहले लोन लेने बैंक गई थी. उसी समय अधेड़ उम्र का व्यक्ति ने अपना नाम संजय बेसरा बताते हुए महिला का लोन सफल कराने का दावा किया. साथ ही महिला का लोन भी पास हो गया था. जिसके बाद मुस्लिम अधेड़ व्यक्ति लगातार महिला को फोन करता रहा. बाद में उसने लोन ली हुई महिला के घर आना जाना शुरू कर दिया। लेकिन जब भी वो अधेड़ व्यक्ति महिला के घर जाता था तो वो पुलिस की वर्दी में होता था और खुद को दूसरे जिले में पुलिस अधिकारी बताता था.

निर्धन परिवार को अधेड़ के पुलिस अधिकारी होने का यकीन हो गया. इस दौरान आरोपी ने ये दावा किया कि वो लड़की के मामा के घर की तरफ ही रहता है. अपनी निर्धनता के चलते लड़की के परिजन इस अधेड़ व्यक्ति से अपनी बेटी की शादी करने को तैयार हो गए. शादी के प्रोग्राम के समय पुलिस के पहुंचने पर आरोपी मौके से फरार हो गया जिसके बाद उसकी सच्चाई सामने आ गई.

सिटी डीएसपी कुलदीप कुमार ने बताया कि आरोपी मुस्लिम हैं और अपना धर्म छुपाकर परिवार को झांसा देकर हिंदू लड़की से शादी कर रहा था. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. लड़की के नाबालिग होने की वजह से उसके घरवालों से भी पूछताछ हो रही है.