क्रिकेटस्पोर्ट्स

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास के बाद अब ये काम करेंगे धोनी, पहले से कर चुके हैं प्लान

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। सालभर से क्रिकेट से दूर चल रहे भारत के दिग्‍गज विकेटकीपर बल्‍लेबाज धोनी अब भारत की ओर से मैदान पर नजर नहीं आएंगे। हालांकि धोनी अभी आईपीएल खेलते रहेंगे। इस बात की घोषणा खुद धोनी ने वीडियो शेयर कर दी है।

वहीं अब धोनी के सन्यास लेने के बाद से ही फैंस के दिमाग में इस बात की चिंता सत्ता रही है कि धोनी अब क्या काम करेंगे। ख़बरों कके मुताबिक, धोनी ने अपना फ्यूचर का प्लान पहले से ही बना लिया था। उन्होंने ने बचपन से ही अपने सपने सजा लिए थे और वह पढ़ाई में भी काफी अच्छे थे। आज हम आपको धोनी के फ्यूचर के बारे में बताने जा रहे हैं।

आपको बता दे, धोनी ने साल 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी। वहीं उसके बाद साल 2008 में रांची स्थित सेंट जेवियर्स कॉलेज में वोकेशनल स्टडीज के तहत ऑफिस एडमिनिस्ट्रेशन एंड सेक्रेटेरियल प्रैक्टिस कोर्स में बैचलर की डिग्री पाने के लिए 2008-2011 में दाखिला लिया था।

लेकिन वह क्रिकेट में काफी ज्यादा बिजी थे जिसकी वजह से वह छह में से एक भी सेमेस्टर पास नहीं कर पाए। ख़बरों के मताबिक, एक बार धोनी ने छात्र-छात्राओं से मुलाकात के दौरान कहा था कि वे पढ़ाई में अच्छे नहीं थे। वह 10वीं और 12 वीं में भी कम नम्बरों से पास हुए थे।

धोनी ने बताया कि उन्होंने ग्‍यारहवीं में पहली बार क्लास बंक की थी. साथ ही वे बोर्ड परीक्षा में भी रांची से बाहर क्रिकेट खेलने जाते थे। आपको बता दे, धोनी को इंडियन टेरिटोरियल आर्मी में नवंबर 2011 में लेफ्टिनेंट कर्नल का रैंक दी गई। उसके बाद उन्‍होंने कहा था कि वे भविष्‍य में ये जिम्‍मेदारी निभाने को पूरी तरह से तैयार हैं। इसके जरिए उनका आर्मी में काम करने का सपना पूरा होगा। वहीं धोनी ने बताया कि वह बचपन से ही फौजी बनना चाहते थे।

उन्होंने बताया कि वो रांची के कैंट एरिया में अक्सर घूमने चले जाते थे, लेकिन किस्मत को कुछ और मंजूर था, वो फौज के अफसर नहीं बन पाए और क्रिकेटर बन गए। गौरतलब है कि धोनी ने अब तक 90 टेस्ट मैच खेले हैं। इसके अलावा 350 एकदिवसीय और 98 टी-20 मुकाबलों में उन्होंने भारत का नेतृत्व किया है। टेस्ट मैचों में धोनी ने 6 शतक लगाए हैं तो वहीं वनडे में धोनी के नाम 10 शतक दर्ज हैं। साथ ही वो इंडियन टेरिटोरियल आर्मी में लेफ्टिनेंट कर्नल भी हैं। अब वे भविष्‍य में ये जिम्‍मेदारी पूरी तरह से निभाकर अपने बचपन का सपना पूरा कर सकते हैं।