योगी सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार टला, मंत्रियों-विधायकों को बुलाया गया था लखनऊ

सोमवार को होने वोले योगी सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार ऐन वक्त पर टल गया है। फिलहाल इसकी वजह साफ नहीं हुई है।

0
39

लखनऊ। सोमवार को होने वोले योगी सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार ऐन वक्त पर टल गया है। फिलहाल इसकी वजह साफ नहीं हुई है। माना जा रहा है कि पूर्व वित्त मंत्री अरूण जेटली की तबीयत खराब होने के चलते ये निर्णय लिया गया है। देर रात अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश अवस्थी ने जानकारी दी कि सोमवार को होने वाले मंत्रिमंडल का विस्तार स्थगित कर दिया गया है।

गौरतलब है कि सोमवार को सुबह 11 बजे मंत्रिमंडल का विस्तार होना था। जिसके चलते अफसरों को रविवार को ही राजभवन बुलाया गया था। इसके अलावा बजेपी ने भी अपने सभी विधायकों और मंत्रियों को लखनऊ बुला लिया गया था। लेकिन, देर रात मंत्रिमंडल विस्तार सथगित कर दिया गया और अधिकारियों को वापस भेज दिया गया।

इधर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने मंत्रिमंडल से रविवार को इस्तीफा दे दिया। उनके पास परिवहन विभाग की जिम्मेदारी थी। सिंह को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि वह कैबिनेट से इस्तीफा दे सकते हैं। जिसके बाद उन्होने रविवार को सीएम योगी से मिलकर मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। बता दे कि फिलहाल मंत्रिमंडल में 18 स्थान खाली है।

खबरें है कि मंत्रिमंडल विस्तार टलने के बाद भी बीजेपी अपने स्तर पर इसकी तैयारियों में जुटी हुई है। बताया जा रहा है कि कुछ स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्रियों को प्रमोशन हो सकता है और उन्हे कैबिनेट मंत्री बनाया जा सकता है। वहीं सवालों में घिरे करीब आधा दर्जन कैबिनेट व राज्यमंत्रियों की विदाई तय मानी जा रही है।

मालूम हो सीएम योगी आदित्यनाथ 17 अगस्त को पूर्व वित्त मंत्री अरूण जेटली का हाल जानने दिल्ली के एम्स पंहुचे थे। जिसके बाद उन्होने प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के साथ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आवास पहुंचकर मुलाकात भी की थी। वहीं शाह से मुलाकात के बाद योगी आदित्यनाथ ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से राजभवन पहुंचकर मुलाकात की थी। जिसके बादसोमवार को मंत्रिमंडल विस्तार होना था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here