चीनविदेश

अपने बयान से पलटा चीन, कहा- ‘वुहान के जंगली जीवों के मार्केट से नहीं फैला कोरोना’

नई दिल्ली : इस समय पूरी दुनिया कोरोना वायरस के कहा से जूझ रही है। पहले यह बात सामने आई थी कि चीन के वुहान शहर के जंगली जीवों के मार्केट से वायरस फैला है। कोरोना वायरस दुनियाभर में फैलने के इतने महीनों बाद अब चीन ने माना है कि वुहान के जंगली जीवों के मार्केट से कोरोना नहीं फैला है। चीन के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के डायरेक्टर गाओ फू ने कहा- ‘शुरुआत में हमने माना कि सी-फूड मार्केट में शायद वायरस रहा हो, लेकिन अब समझ आता है कि मार्केट विक्टिम बन गया। नॉवेल कोरोना वायरस काफी पहले से मौजूद था।’

गाओ फू ने कहा कि “वे जनवरी की शुरुआत में वुहान गए थे। लेकिन उन्हें किसी भी जीव के सैंपल में वायरस नहीं मिले. चीनी वैज्ञानिक कड़ी मेहनत कर रहे हैं ताकि वायरस की उत्पत्ति का पता लगाया जा सके।”

जब से कोरोना वायरस दुनियाभर में फैला है उसके बाद से चीन कहता आया है कि यह जंगली जीवों के मार्केट से फैला है। लेकिन अमेरिका और कई अन्य देशों द्वारा चीन पर आरोप लगाया जा रहा था की कोरोना वायरस चीन में स्थित वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट की लैब से लीक हुआ।

बता दें कि कोरोना वायरस फैलने के बाद वुहान के उस मार्केट को बंद भी कर दिया गया था। हालांकि चीन ने उस मार्केट से मिलने वाले जीवों के सैंपल या उससे जुड़ा कोई भी डेटा दुनिया के सामने कभी शेयर नहीं किया है।

इससे पहले वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की डायरेक्टर वांग यानयी ने एक इंटरव्यू में कहा था कि “लैब से वायरस लीक होने की थ्योरी झूठी है।Lancet में प्रकाशित एक स्टडी में भी कहा गया था कि चीन में कोरोना से संक्रमित शुरुआती 41 लोगों में से सिर्फ 27 का ही कोई कनेक्शन मार्केट से पाया गया।”