अगर आप डायबिटीज के शिकार हैं तो तुरंत डाइट पर कंट्रोल करना शुरू कर दें। डायबिटीज के मरीजों के लिए ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए डाइट पर कंट्रोल करना जरूरी है। डाइट को कंट्रोल नहीं किया जाए तो ब्लड में शुगर का स्तर तेजी से बढ़ने लगता है। डायबिटीज के मरीजों की आदर्श डाइट में बेहद कम प्रोसेस फूड, फाइबर से भरपूर फल और सब्जियां, मॉडरेशन में जटिल कार्बोहाइड्रेट, लीन प्रोटीन, हेल्दी फेट्स, सीमित चीनी का सेवन शामिल है। डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए तनाव को कम करना, नियमित रूप से व्यायाम करना और निर्धारित दवा का सेवन करना जरूरी है।

डायबिटीज थायराइड हार्मोन विशेषज्ञ डॉ. बी. के. रॉय के मुताबिक सर्दी में हाई ग्लाइसेमिक फूड्स को खाना परेशानी को बढ़ा सकता है। डायबिटीज के मरीजों के लिए हाई ग्लाइसेमिक कुछ फूड्स का सेवन सर्दी में परेशानी को बड़ा सकता है। इस खबर में हम आपको बताते है डायबिटीज के मरीज सर्दी में किन फूड्स का सेवन करने से परहेज करें।

शहद से रहे दूर

सर्दी में डायबिटीज के मरीज शहद का सेवन नहीं करना चाहिए। शहद में कार्बोहाइड्रेट मौजूद होता है जो बॉडी को तुरंत एनर्जी देता है। शहद एक नेचुरल स्वीटनर है लेकिन फिर भी शहद में कैलोरी, शुगर और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा मौजूद रहती है। जिन लोगों का ब्लड शुगर हाई रहता है वो शहद से परहेज करें।

गुड़ को कहे बाय

डायबिटीज के मरीज को गुड से दुरी बनाना चाहुये, गुड़ में चीनी की मात्रा काफी ज़्यादा होती है, जिससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। गुड़ का ग्लाइसेमिक इंडेक्स 84.4 है जो बहुत ज्यादा है। इसका सेवन करने से डायबिटीज के मरीजों की ब्लड शुगर काफी हाई हो सकती है।

फ्राई फूड्स को कहे ना

सर्दी में डायबिटीज के मरीज तले भूने और मसालेदार फूड्स से परहेज करें। फ्राई फूड ब्लड शुगर को प्रभावित करते हैं, क्योंकि इसमें मौजूद वसा पाचन को धीमा कर देती है। तले हुए फूड्स में कार्बोहाइड्रेट होता हैं, जो डायबिटीज पेशेंट के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। डायबिटीज के मरीज ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए कम ऑयल और कम नमक का सेवन करें।