कम उम्र में शुरू करें दांतों का सही इलाज, राइजिंग स्टार स्पीकर डॉ. कृतिका मिश्रा ने ऑर्थोडॉन्टिक सम्मेलन में दिया भाषण

भारतीय ऑर्थोडॉन्टिक सम्मेलन भारतीय विद्यापीठ पुणे में आयोजित किया। 56वें सम्मेलन में मालवांचल यूनिवर्सिटी के इंडेक्स इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंसेज की डॉ. कृतिका मिश्रा, एसोसिएट प्रोफेसर, ऑर्थोडॉन्टिक्स विभाग ने राइजिंग स्टार स्पीकर के तौर पर व्याख्यान दिया।

इंदौर(Indore) : भारतीय ऑर्थोडॉन्टिक सम्मेलन भारतीय विद्यापीठ पुणे में आयोजित किया। 56वें सम्मेलन में मालवांचल यूनिवर्सिटी के इंडेक्स इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंसेज की डॉ. कृतिका मिश्रा, एसोसिएट प्रोफेसर, ऑर्थोडॉन्टिक्स विभाग ने राइजिंग स्टार स्पीकर के तौर पर व्याख्यान दिया। इस सम्मेलन में देशभर के विशेषज्ञ शामिल हुए थे। डॉ. कृतिका मिश्रा ने 3 डब्ल्यू ऑर्थोडॉन्टिक्स के बारे में जानकारी।

Read More : शराब कारोबारी रिंकू भाटिया पर धार पुलिस ने रखा 10 हजार का इनाम, IAS अधिकारी पर हमले को लेकर बनाया गया था आरोपी

इसी के साथ उन्होंने सम्मेलन में ऑर्थोडॉन्टिक उपचार कब शुरू करना चाहिए इस विषय पर व्य़ाख्यान दिया। उन्होंने बताया कि बढ़ती उम्र के साथ दांतों के इलाज में कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इसलिए 7 वर्ष की उम्र ही आपके दांतों का पहला चेकअप होना चाहिए। इससे आने वाले समय में आप दांतों की सर्जरी के खतरे को कम कर सकते है। इंडेक्स समूह के चेयरमैन सुरेशसिंह भदौरिया ने उन्हें भारतीय ऑर्थोडॉन्टिक सम्मेलन में शामिल होने पर बधाई दी।

Source : PR