धर्मव्रत / त्यौहार

जानिए कब है गायत्री जयंती, क्या है गायत्री मंत्र के लाभ और पूजा का शुभ मुहूर्त

हिन्दू मान्यताओं में कई तरह के व्रत और त्यौहार मनाए जाते हैं। वहीं सभी व्रत का अपना अपना लग महत्त्व होता है। ऐसे में एक ऐसा त्यौहार है जिसका महत्त्व भी काफी ज्यादा माना गया है। हम बात कर रहे हैं गायत्री जयंती की। इस बार गायत्री जयंती 2 जून को मनाई जाएगी। हिन्दू पंचांग के अनुसार गायत्री जयंती ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि पर मनाई जाती हैं। इस दिन गायत्री माता का जन्मोत्सव मनाया जाता है।

gayatri jayanti

इस दिन माता गायत्री की पूजा अर्चना की जाती है। लेकिन इस बार सभी लोग अपने घर में भी माँ की पूजा अर्चना कर पाएंगे। मां गायत्री को हिंदू धर्म के चारों वेदों, पुराणों और श्रुतियां की जननी माना जाता है, इसलिए इन्हें वेदमाता भी कहा गया है। इसी के साथ धार्मिक शास्त्रों में माता गायत्री को वेद माता के नाम से जाना जाता हैं। देवी पार्वती, सरस्वती और माता लक्ष्मी की अवतार भी मां गायत्री है। आज हम आपको पूजा का शुभ मुहूर्त और गायत्री मंत्र का महत्व बताने जा रहे हैं।

ये है गायत्री माता की पूजा का शुभ मुहूर्त –

एकादशी तिथि प्रारंभ— 02:57 PM, जून 01, 2020
एकादशी तिथि समाप्त— 12:04 PM, जून 02, 2020

गायत्री मंत्र के लाभ –

शास्त्रों के अनुसार, माँ गायत्री को आयु, प्राण, शक्ति, कीर्ति, धन और ब्रह्म तेज प्रदान करने वाली देवी कहा गया है। इनकी उपासना से मनुष्य को यह सब आसानी से प्राप्त हो जाता हैं। देवी गायत्री की उपासना करने वालों की मनोकामनाएं पूरी होती हैं। अथर्ववेद में उल्लेख है किया गया है कि मां गायत्री आयु, प्राण, शक्ति, कीर्ति, धन और ब्रह्मतेज प्रदान करने वाली देवी है।