पुराने रंग में लौटे राज ठाकरे, सीएए पर बोले- घुसपैठियों को भारत से फेंको बाहर

0

मुंबई। सार्वजनिक मंचों से मोदी सरकार की आलोचना कर चुके महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर केन्द्र सरकार का समर्थन किया है। उन्होने कहा कि पाकिस्तान और बांग्लादेश के घुसपैठियों को देश से बाहर फेंक देना चाहिए। मुंबई में एक रैली को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा कि संशोधिन कानून पर बहस की जा सकती है, लेकिन हम किसी भारत किसी ऐसे व्यक्ति को देश में शरण क्यों दें, जो अवैध रूप से बाहर से आया हो?

मनसे प्रमुख ने कहा कि पाकिस्तान और बांग्लादेश के अवैध घुसपैठियों को भारत से बाहर करने में हम मोदी सरकार की मदद करेंगे। उन्होने कहा कि मै कुछ मुद्दों को लेकर महाराष्ट्र के गृहमंत्री या मुख्यमंत्री से मुलाकात भी करूंगा। ठाकरे बोले, भारतीय मुस्लिम मौलवी जब दूसरे देशों में जाते हैं, तो किसी को नहीं पता कि वे क्या करते हैं, पुलिस भी नहीं जा सकती। राज ठाकरे ने बताया कि वह पाकिस्तान और बांग्लादेश से भारत में आए अवैध घुसपैठियों को भगाने के नौ फरवरी को विशाल रैली करेंगे।

मनसे ने बदला पार्टी का झंडा

एमएनएस के पांच रंग के झंडे को अब भगवा रंग दिया गया है। भगवा ध्वज पर शिवाजी की मुहर है और उस पर संस्कृत में श्लोक लिखा गया है- ‘प्रतिपच्चन्द्रलेखेव वर्धिष्णुर्विश्ववन्दिता, शाहसूनोः शिवस्यैषा मुद्रा भद्राय राजते’। एमएनएस की ओर से महाअधिवेशन के लिए लगाए पोस्टर पूरी तरह से भगवा रंग में है, जिस पर नारा दिया गया ‘महाराष्ट्र धर्म के बारे में सोचो, हिंदू स्वराज्य का निर्धारण करो’।

वहीं इस पर पार्टी नेता संदीप देशपांडे ने कहा कि भगवा पर किसी का कॉपीराइट नहीं है और पूरा महाराष्ट्र भगवा है। इस फैसले से महाराष्ट्र में नई ऊर्जा आएगी और महाराष्ट्र की राजनीति में नए मोड़ और विकल्प खुलेंगे।

मेरे डीएनए में है भगवा- ठाकरे

राज ठाकरे ने कहा कि मेरे डीएनए में भगवा है। भगवा झंडा साल 2006 से मेरे दिल में है। मैं मराठी हूं और एक हिंदू हूं। उन्होंने यह भी कहा कि मुसलमान भी अपने हैं। वहीं कई मुद्दों पर उनके द्वारा पीएम मोदी की आलोचना करे जाने को लेकर उन्होने कहा कि जब मुझे लगता है कि जो प्रधानमंत्री ने कहा है वह सही नहीं तो मैं उनकी आलोचना करता हूं, लेकिन जब उन्होने अच्छा काम किया तो मैने उनकी तारीफ भी की।