चिंतन शिविर में बोले राहुल गांधी- कांग्रेस पार्टी के DNA में सबको बोलने का अधिकार है, जमकर साधा BJP पर निशाना

पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी यह कहते नजर आए कि हमें जनता के बीच जाकर उनकी समस्या को समझना चाहिए. जनता के साथ जो कनेक्शन था उस कनेक्शन को फिर से बनाना पड़ेगा.

राजस्थान: जिले के उदयपुर में आज कांग्रेस के चिंतन शिविर का आखिरी दिन था. यहां पार्टी के पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के डीएनए में सब को बोलने का अधिकार दिया गया है जबकि बीजेपी में ये नहीं है.

इस दौरान राहुल गांधी ने उत्तराखंड के नेता यशपाल आर्य के सहारे बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि यशपाल आर्य ने मुझे बताया कि दलित के रूप में उनके लिए पार्टी में कोई जगह नहीं बनाई गई थी और उन्हें अपमानित भी किया गया था. राहुल ने कहा हम पर हर दिन हमला होता है, क्योंकि हम अपनी पार्टी में बातचीत करने की इजाजत देते हैं. इस दौरान अपनी पार्टी को लेकर राहुल ने कहा कि हमें आंतरिक मसले पर ध्यान देना होगा.

Must Read- गुना पुलिसकर्मी हत्याकांड के आरोपियों का हुआ शाॅर्ट एनकाउंटर, कर रहे थे भागने की कोशिश

पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी यह कहते नजर आए कि हमें जनता के बीच जाकर उनकी समस्या को समझना चाहिए. जनता के साथ जो कनेक्शन था उस कनेक्शन को फिर से बनाना पड़ेगा. जनता जानती है कि कांग्रेस ही देश को आगे ले जा सकती है. राहुल ने बताया कि अक्टूबर महीने में पूरी कांग्रेस पार्टी जनता के बीच यात्रा कर जनता से रिश्ता बनाएगी.

आगे राहुल यह कहते नजर आए कि मोदी सरकार ने युवाओं के भविष्य को खराब कर दिया है. नोटबंदी, जीएसटी ऐसी चोट है जिसकी वजह से हर तरफ बेरोजगारी और महंगाई देखी जा रही है. राहुल ने यह भी कहा कि देश में नफरत और हिंसा को बढ़ावा दिया गया है हम उसके खिलाफ लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक परिवार है. मैं आप सबका परिवार हूं. मेरी लड़ाई आरएस मएस और बीजेपी की विचारधारा के खिलाफ है, क्योंकि यह देश के लिए एक खतरा है. मैं नहीं चाहता कि मेरे प्यारे देश में नफरत और हिंसा फैले.