Indore। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में आयोजित प्रवासी भारतीय दिवस (pravasi bharatiya divas) के 17वें संस्करण में पहुंचेंगे। इंदौर शहर में 8 जनवरी से प्रवासी भारतीय सम्मेलन की शुरुआत हो चुकी है। सम्मेलन के मद्देनजर इंदौर को खासतौर पर दुल्हन की तरह सजाया गया है। प्रवासी भारतीय सम्मेलन में शिरकत करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज सुबह 9.45 पर विशेष विमान से इंदौर पहुंचेंगे।

ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में आयोजित सम्मेलन में 70 देशों के 3200 प्रवासी भारतीय शिरकत कर रहे हैं। प्रवासी भारतीय सम्मेलन में शिरकत करने वाले अतिथि लगभग आ चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने विदेश दौरे के दौरान प्रवासी भारतीयों और अन्य को इंदौर आने का आमंत्रण दे चुके हैं। प्रवासी भारतीय सम्मेलन के तत्काल बाद 11 जनवरी से ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट का आयोजन होगा, दोनों आयोजन आठ से 12 जनवरी तक होंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तय कार्यक्रम के अनुसार इंदौर के ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर पर सुबह करीब 10 बजे पहुंचेंगे। यहां गुयाना मो. इरफान अली और सूरीनाम के राष्ट्रपति चंद्रिका प्रसाद संतोखी को रिसीव करने के बाद स्वतंत्रता संग्राम में प्रवासी भारतीयों के योगदान पर आधारित डिजिटल प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘सुरक्षित जाएं प्रशिक्षित जाएं’ विषय पर विशेष डाक टिकट भी जारी करेंगे। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहाँ करीब 4 घंटे रुकेंगे। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री डिजिटल प्रदर्शनी का शुभारंभ करने के साथ सुरक्षित जाएं-प्रशिक्षित जाएं डाक टिकट का अनारण करेंगे।

Also Read – Madhya Pradesh में उद्यमी अकेला नहीं है, सरकार पूरी तरह उसके साथ खड़ी है – उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा

दोपहर 1 बजे से लंच होगा, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद होस्ट करेंगे। लंच में 102 गेस्ट शामिल होंगे। लंच के बाद दोपहर 2 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली के लिए रवाना होंगे। इंदौर के ब्रिलियंट कन्वेशन सेंटर में सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। यहां सिर्फ पासधारकों को ही प्रवेश दिया जाएगा। इन दिनों में यहां आम लोगों के प्रवेश पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा।

प्रवासी भारतीय दिवस के बारे में ट्वीट करते हुए पीए मोदी ने लिखा, ‘कल यानी 9 जनवरी को इंदौर में प्रवासी भारतीय दिवस में मौजूद रहने के लिए मैं तैयार हूं। यह बहुत बड़ा मौका है कि हम अपने देश के प्रवासियों से अपने रिश्ते मजबूत कर सकें।

इंदौर में पधारो म्हारा घर को लेकर मेहमानों और मेजबानों में खूब बन रही है। साथ घूम रहे हैं, खा रहे हैं, टीवी सीरियल देख रहे हैं, नए-पुराने किस्से सुन और सुना रहे हैं। एयरपोर्ट से लेकर आयोजन स्थल तक कलाकृतियों के साथ ही दीवारों को कैनवास बना दिया गया है। दीवारों पर खूबसूरत पेटिंग की गई हैं। सम्मेलन में आने वाले विदेशी मेहमानों को इंदौर की संस्कृति से रू-ब-रू करवाने के लिए हर मुमकिन प्रयास किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के लिए 70 देशों में बसे लगभग 3,500 प्रवासी भारतीयों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है।