यूरोपीय यूनियन से पाक को फटकार, कहा- भारत में पड़ोस से आते हैं आतंकवादी, चांद से नहीं

जम्मू-कश्मीर मसले को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाने की पाकिस्तान की कोशिशों को एक बार फिर तगड़ा झटका लगा है। दरअसल, बुधवार को यूरोपीय यूनीयन की संसद ने इस मसले पर भारत का साथ देते हुए पाकिस्तान को संदिग्ध देश बताया है और कहा है कि कश्मीर मुद्दा द्विपक्षीय मामला है।

0
54
imran khan

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर मसले को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाने की पाकिस्तान की कोशिशों को एक बार फिर तगड़ा झटका लगा है। दरअसल, बुधवार को यूरोपीय यूनीयन की संसद ने इस मसले पर भारत का साथ देते हुए पाकिस्तान को संदिग्ध देश बताया है और कहा है कि कश्मीर मुद्दा द्विपक्षीय मामला है।

यूरोपीय संसद ने कहा कि दोनों देशों को इस मुद्दे पर सीधे तौर पर बात करनी चाहिए ताकि इसका शांतिपूर्वक हल निकल सके ससंद के सदस्यों ने साफ किया हैै कि इस मुद्दे को लेकर किसी तीसरे के हस्तक्षेप का कोई सवाल नहीं उठता है। बता दे कि यूरोपीय यूनियन की संसद द्वारा 11 सालों में पहली बार कश्मीर मुद्दे पर चर्चा की गई थी। इस दौरान कहा गया कि संसद की कश्मीर में कोई भूमिका नहीं है।

यूरोपीय यूनियन में पोलैंड के रिजार्ड जारनेकी ने कहा, ‘भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। हमें भारत के जम्मू-कश्मीर में होने वाले आतंकी हमलों पर ध्यान देने की जरूरत है। यह आतंकी चांद से नहीं आते हैं। यह पड़ोसी देश से आ रहे हैं। हमें भारत का समर्थन करना चाहिए।’

यूरोपीय यूनियन में इटली के फुलवायो मार्तसिलो ने कहा, ‘पाकिस्तान ने परमाणु हथियारों के इस्तेमाल की धमकी दी है। पाकिस्तान ऐसा स्थान है जहां आतंकवादी यूरोप में आतंकी हमले करने की योजना बनाने में सफल रहते हैं। यहां मानवाधिकारों का जबरदस्त उल्लंघन होता है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here