इस एप से अब महिलाएं कर सकती है यौन उत्पीड़न की शिकायत, मिलेगी ये खास मदद

महिलाओं के साथ हो रहे बलात्कार यौन उत्पीड़न के खिलाफ पिछले कोई दिनों से एक एप पर मुहीम चलाई जा रही है जिसमें दुनियाभर की महिलाएं अपने साथ हुई यौन शोषण की घटनाओं को उस एप के जरिए शेयर कर रही हैं। दरअसल, इस एप के इस्तेमाल से अब महिलाओं को थाने के चक्कर नही लगाना पड़ेंगे।

0
smash board

महिलाओं के साथ हो रहे बलात्कार यौन उत्पीड़न के खिलाफ पिछले कोई दिनों से एक एप पर मुहीम चलाई जा रही है जिसमें दुनियाभर की महिलाएं अपने साथ हुई यौन शोषण की घटनाओं को उस एप के जरिए शेयर कर रही हैं। दरअसल, इस एप के इस्तेमाल से अब महिलाओं को थाने के चक्कर नही लगाना पड़ेंगे। साथ ही इस एप से अब महिलाएं क़ानूनी शिकायत भी ले सकती है। इसके आलावा उन महिलाओं को मेडिकल सुविधा भी दी जाएगी।

बता दे कि, इस एप से महिलाएं उन मुद्दों की रिपोर्टिंग भी की जा सकती है जिनकी रिपोर्टिंग आपतौर पर नहीं हो पाती है। अब आप सोच रहे होंगे की इस एप का नाम क्या है तो हम बता दे इस एप का नाम है स्पैशबोर्ड। ये एप पूरी तरह से प्राइवेट और इंक्रिप्टेट होगा। इस एप के तहत यौन पीड़ित महिलाएं फोटो, स्क्रीनशॉट, कोई डॉक्यूमेंट, वीडियो और ऑडियो सबूत के तौर पर सेव कर सकती है।

दरअसल, इस एप की जानकारी एप के को-फाउंडर नूपूर तिवारी ने एक न्यूज एजेंसी को दी है। तिवारी के मुताबिक स्मैशबोर्ड एप यूजर की लोकेशन को ट्रैक नहीं करेगा। साथ ही डाटा के साथ किसी तरह की कोई छेड़छाड़ नहीं होगी।