Indore: महिलाओं संबंधी अपराधों पर नियत्रंण एवं महिलाओं की सुरक्षा एवं उनकी शिकायतों पर त्वरित कार्यवाही कर, उन्हे तुरंत सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से शासन द्वारा विभिन्न कानूनी प्रावधान एवं योजनाए संचालित की जा रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग के तत्वाधान मे रिजर्व इंदौर म.प्र. पुलिस संगठन के सौजन्य से इंदौर पुलिस के लिए ‘‘महिला पुलिस थाना और हेल्प डेस्क की कार्यप्रणाली, दक्षता और प्रभावशीलता’’ विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन आज दिनांक 16.07.2022 को पुलिस कंट्रोल रूम इंदौर के सभागृह में किया गया। उक्त कार्यशाला का उद्घाटन राष्ट्रीय महिला आयोग की माननीय अध्यक्ष रेखा शर्मा, के मुख्य आतिथ्य में किया गया।

उक्त कार्यशाला मे सेवानिवृत्त पुलिस महानिरीक्षक एवं एमपीपीएससी के पूर्व सदस्य रमन सिंह सिकरवार, पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र के विशेष आतिथ्य में पुलिस उपायुक्त यातायात प्रबंधन इंदौर महेशचंद जैन, पुलिस उपायुक्त (अपराध एवं मुख्यालय) इंदौर निमिष अग्रवाल, अति. पुलिस उपायुक्त यातायात प्रबंधन इंदौर ज़ोन-2 अंजना तिवारी, अति. पुलिस उपायुक्त मुख्यालय इंदौर मनीषा पाठक सोनी, अति. पुलिस उपायुक्त महिला सुरक्षा शाखा प्रियंका डूडवे, महिला बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी रामनिवास बुधोलिया, सेवानिवृत्त न्यायाधीश गुलाब शर्मा, वन स्टाप सेंटर इंदौर की प्रबंधक वंचना सिंह परिहार ने, इंदौर शहर के महिला थाना, विभिन्न थानों में संचालित महिला डेस्क के प्रभारी व सहायकों, रक्षा समिति के सदस्यों, महिला बाल विकास विभाग के सदस्य, शिक्षा विभाग के सदस्य, रिजर्व इंदौर म.प्र. पुलिस संगठन के पदाधिकारी तथा महिला अपराधों उनकी सुरक्षा एवं उनके हितों के लिये कार्य करने वाली विभिन्न अशासकीय संस्थाओं के सदस्यों के साथ, महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता एवं व्यवहार कौशल को बढ़ाते हुए महिला पुलिस थाना और हेल्प डेस्क की कार्यप्रणाली, दक्षता और प्रभावशीलता और किस प्रकार बेहतर बनाया जा सके इस विषय पर परिचर्चा की गयी।

Must Read- अखिल भारतीय श्वेतांबर जैन महिला संघ ने की अशोक वाटिका की शुरुआत, रोपे कई पौधे

कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए मनीषा पाठक सोनी द्वारा कार्यक्रम की रूपरेखा को रखा तथा रिजर्व इंदौर म.प्र. पुलिस संगठन की आरती मोर्य ने उनके संगठन द्वारा किस प्रकार पिछले 25 वर्षाे से पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर बच्चों एवं महिलाओं के लिये यातायात जागरूकता, महिला अपराधों के प्रति जागरूकता एवं उनकी सुरक्षा हेतु सेल्फ डिफेंस कार्यक्रम, सायबर अपराधों के प्रति अवेयरनेस, बच्चों के भविष्य निर्माण एवं महिलाओं के सामाजिक उत्थान हेतु विभिन्न सामाजिक कार्यक्रमों का आयोजन अनवरत रूप से किया जा रहा है, इससे सभी को अवगत करवाया।

कार्यक्रम के मुख्य प्रवक्ता एवं रिजर्व इंदौर म.प्र. पुलिस संगठन के संरक्षक रमन सिंह सिकरवार ने बताया कि करीब 25 वर्ष पहले पुलिस के सहयोगी संगठन के रूप में रिजर्व इंदौर म.प्र. पुलिस संगठन की शुरूआत हुई थी और जब से ही यह संस्था समाज में जनजागृति लाने का कार्य बखूबी कर रही है। उन्होनें कहा कि वर्तमान समय में हमारे पूर्व के दौर का देखते हुए समाज मे, पारिवारिक मूल्यों में बहुत ज्यादा परिवर्तन आया है, जिसके कारण आये दिन पारिवारिक झगड़े- विवाद आदि देखने को मिलते हैं। तो ऐसे परिवेश में महिला थाना एवं महिला हेल्प डेस्क तथा महिला पुलिस कर्मियों की उपयोगिता और महत्व और ज्यादा बढ़ गया है साथ ही जिम्मेदारियां भी बढ़ी है, जिसके लिये पुलिस को महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता के साथ व्यवहार करते हुए और ज्यादा दक्षता के साथ अपनी कार्यप्रणाली को और बेहतर करने के लिये हमेशा प्रयासरत् रहना चाहिए।

महिला अपराधों की रोकथाम एवं उनकी सुरक्षा तथा हितों को ध्यान रखने हेतु, पुलिस आयुक्त नगरीय इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र के दिशा-निर्देशन एवं अति.पुलिस आयुक्त (अपराध एवं मुख्यालय) इंदौर राजेश हिंगणकर व अति.पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) इंदौर मनीष कपूरिया के मार्गदर्शन में इंदौर पुलिस द्वारा महिलाओं की समस्याओं एवं शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए पूरी संवेदनशीलता के साथ कार्यवाही की जा रही है। जिसके सबंध में बताते हुए पुलिस कमिश्नर हरिनारायणचारी मिश्र ने, महिलाओं के हितों को ध्यान मे रखते हुए इंदौर पुलिस द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कार्ययोजनाओं जैसे- वी.केयर.फोर.यू, उर्जा डेस्क, नगर रक्षा समिति, क्राइम वॉच, साइबर हेल्पलाईन, सीटिजन कॉप आदि हेल्पलाइन नंबर व ऐप के साथ ही सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत चलाई जा रही योजनाएं- वरिष्ठ नागरिको की समस्याओं हेतु-आलंबन वरिष्ठ नागरिक परामर्श केन्द्र, सीनियर सिटीजन पुलिस पंचायत, आत्महत्या के प्रयास की रोकथाम हेतु-संजीवनी हेल्पलाईन, मूक बधिर एवं दिव्यांगों की सहायता हेतु-म.प्र. मूक बधिर/दिव्यांग पुलिस सहायता केन्द्र, कमजोर वर्ग के बच्चों को समाज की मुख्य धारा से जोड़ने हेतु-संजीवनी बाल मित्र केन्द्र, किशोर उम्र की लड़कियों के भटकाव को रोकने हेतु-घर छोड़ के ना जाओं अभियान, पीड़ित महिलाओं को आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने हेतु-मां अहिल्या स्वावलंबन डेस्क, स्कूल कॉलेज की बालिकाओं की सुरक्षा एवं सशक्तिकरण हेतु- सबला सहायिका निर्भया टीम आदि के तहत इंदौर पुलिस कार्य कर रही है।

इस अवसर पर कार्यक्रम की मुख्य अतिथि माननीय राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष महोदया श्रीमती रेखा शर्मा ने कहा कि महिला आयोग एवं पुलिस एक दूसरे से पूरी तरह जुड़े रहकर आपसी समन्वय के साथ कार्य कर रहे है और पीड़िता का पहला संपर्क पुलिस के साथ ही होता है। अतः प्रत्येक पीड़ित के प्रति हमारा व्यवहार संवेदनशील एवं सौम्य होना चाहिए। हमें सर्वप्रथम पीड़िता को पारिवारिक माहौल प्रदान कर, उनकी समस्याओं को सुनना है, फिर उनकी समस्या के निराकरण का प्रयास करना है। और उनकों विधिक सहायता या अन्य प्रकार की सहायता के लिये अन्य शासकीय व अशासकीय संस्थाओं द्वारा समन्वय स्थापित कर, उन्हे त्वरित राहत व परामर्श, उनके ईलाज, पुनर्वास, सामाजिक एकीकरण, विधिक एवं आर्थिक मदद की दिशा में भी आवश्यक सहयोग प्रदान करने के लिये प्रयासरत रहना चाहिए। साथ ही उन्होेने कहा कि हमें समाज में महिलाओं एवं पुरूषों की समानता वाली सोच लानी है तो इसके लिये हमारी नई पीढ़ी जो कि स्कूल और कॉलेज में है वहीं से इस लैगिंक समानता की सोच को विकसित करने के लिए हम सभी संस्थाओं को उनके बीच जाकर उन्हें इस दिशा में जागरूक करने के लिये नित-नये प्रयास करते रहना चाहिए। उन्होनें महिला सुरक्षा एवं उनको हितों को ध्यान में रखते हुए इंदौर पुलिस द्वारा किये जा रहे कार्यो की भी सराहना की गयीं।

उक्त प्रशिक्षण कार्यशाला मे आए अतिथि विषय विशेषज्ञों द्वारा उपस्थित प्रशिक्षणार्थियों को महिलाओं हेतु पुलिस व अन्य प्रशासनिक एवं अशासकीय संस्थाओं के आपसी समन्वय के साथ की जाने वाली कार्यप्रणाली, आम जनता व महिलाओं के लिए पुलिस की पहुंच, महिलाओं के विरूद्ध अपराध मे शिकायत दर्ज करना और उनके विरुद्ध सायबर अपराध तथा कानूनी प्रावधान, सेफ सिटी प्राजेक्ट, काउंसलिग एवं मानसिक सपोर्ट का महत्व आदि के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारियां प्रदान करते हुए इन सबमें महिला पुलिस की भूमिका के बारें में विस्तार से चर्चा की गयी।

कार्यक्रम का सफल संचालन अति पुलिस उपायुक्त मुख्यालय मनीषा पाठक सोनी द्वारा किया गया तथा अंत में अति. पुलिस उपायुक्त यातायात प्रबंधन एवं रिजर्व इंदौर म.प्र. पुलिस संगठन की अध्यक्ष अंजना तिवारी एवं आरती मोर्य द्वारा सभी का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम के बेहतर प्रबंधन में रिज़र्व इंदौर ग्रूप की आरती मौर्य, राकेश शर्मा, स्नेहा, यशस्वी, कंसलटेंट अभिषेक वर्मा की विशेष भूमिका रही।