MP सरकार छात्रों को दे रही है 25 हजार की राशि, इन विद्यार्थियों को मिलेंगा योजना का फायदा

इसी योजना के तहत 12 में 75 फीसदी से ज्यादा अंक प्राप्त करने वालें छात्रों को 3 अक्टूबर को 90 हजार से अधिक विद्यार्थियों को योजना का लाभ मिलेंगा। इसके लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी भी कर ली हैं। प्रदेश भर के स्कूलों से सूची मंगवा ली हैं।

मध्यप्रदेश सराकार मेधावी छात्र-छात्राओं को बीते कई सालों से लैपटॉप खरीदने के लिए 25 हजार रूपए की राशि वितरीत कर रही हैं। इसी योजना के तहत 12 में 75 फीसदी से ज्यादा अंक प्राप्त करने वालें छात्रों को 3 अक्टूबर को 90 हजार से अधिक विद्यार्थियों को योजना का लाभ मिलेंगा। इसके लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी भी कर ली हैं। प्रदेश भर के स्कूलों से सूची मंगवा ली हैं।

यहां होगा कार्याक्रम का आयोजन

प्रदेश के राजधानी भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में 3 अक्टूबर को कार्याक्रम का आयोजन किया गया जाएंगा। जहां पर प्रदेश भर के मेधावी विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा सिंगल क्लिक से 91, 617 के खातों में 25 की राशि ट्रांसफर की जाएंगी। यह राशि 12 वीं में अच्छे प्राप्तक लाने के लिए प्रोत्साहन के रूप में दी जाएंगी। जिससे छात्रा 25 हजार तक का लेपटॉप की खरीदी कर सकें, ताकि आगे के भविष्य के लिए किसी प्रकार की परेशानी ना आए।

Also Read : Rohan Joshi नाम के शख्स ने किया राजू श्रीवास्तव की मौत पर भद्दा कमेंट, ‘गजोधर’ के फैंस दे रहे हैं गाली, जानिए कौन है ये ‘इंसान’

हर साल इतने हजार छात्रों को मिलता है फायदा

प्रदेश सरकार की ओर से हर साल करीब 20 हजार से अधिक विद्यार्थियों को इस योजना का फायदा मिलता हैं। इसके लिए छात्रों को 12 वीं 75 प्रतिशत अंक या उससे अधिक लाने होते हैं। 25 हजार की राशि अच्छे अंक हासिल करने वाले विद्यार्थियों को प्रोत्साहन के रूप में वितरित करती है ताकि आगे के भविष्य के लिए कुछ संयोग मिल सके। जिन छात्रोें को इस साल में योजना का लाभ मिलना है उनकी जानकारी जिला शिक्षा अधिकारी ने बीते 20 सितंबर को मंगाव ली थी।

कब से शुरूआत हुई थी इस योजना की

मेधावी योजना की शुरूआत 12 वीं में पढा़ई करने वाले स्टुडेंट्स के लिए साल 2008 में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा की गई थी। शुरू में इस योजना का हिस्सा बनने के लिए छात्रों को 85 फीसदी अंक लाने होने थे। लेकिन बाद में कुछ बदलाव करके 75 प्रतिशत कर दिए गए हैं। जिसमें विद्यार्थियों को 25 हजार रूपए का राशि दी जाती हैं।