MP Board: 9वीं से 12वीं के छात्रों के लिए नए नियम जारी, बोर्ड ने किए ये बदलाव

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा 9वीं से 12वीं तक के परीक्षा रिजल्ट एडमिट कार्ड में त्रुटि को कम करने के साथ कुछ अन्य नियमों में भी बदलाव किया गया है।

एमपी बोर्ड छात्रों के लिए बड़ी खबर सामने आई है। 9वीं से 12 वीं तक के परीक्षा रिजल्ट – एडमिट कार्ड में त्रुटि को कम करने के लिए अब माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने नई युक्ति तैयारी कर रहा है। जिसके लिए कुछ नियमों में बदलाव किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक अंतिम तिथि 7 दिन पहले डमी प्रवेश पत्र और नामांकन पत्र जारी किए जाएंगे, ताकि छात्रों के लिए होने वाली मार्कशीट और एडमिट कार्ड में त्रुटि की समस्या को तुरंत हल किया जा सके। यह माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा प्रवेश नीति 2022 से जारी किया जा रहा है। जिसमें कई महत्त्वपूर्ण दिशा निर्देश भी दिए गए हैं।

जानकारी के मुताबिक 9वी कक्षा में प्रवेश को लेकर भी बड़ी खबर सामने आई है। आपको बता दें कि अब 9वी कक्षा के छात्र 15 जुलाई से 30 सितंबर तक स्कूल में प्रवेश ले सकेंगे। नामांकन के आधार पर छात्र 15 जुलाई से 30 सितंबर तक 10वीं परीक्षा की परीक्षा का फॉर्म भरने की पात्रता रखेंगे । लेकिन अंतिम तिथि के बाद परीक्षा फॉर्म भरने पर छात्रों को ₹10000 विलंब शुल्क भी अदा करना होगा। इससे पहले माध्यमिक शिक्षा मंडल के द्वारा 9वी और 12 वी तक के छात्रों के लिए ब्लूप्रिंट जारी किया है। छात्र माध्यमिक शिक्षा मंडल की ऑफिशियल वेबसाइट पर इसे देख सकते हैं और ब्लूप्रिंट के आधार पर प्रश्न पत्र बनाने के दौरान अब 40% वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के अलावा 40% पूरक प्रश्न , 20% विश्लेषणात्मक प्रश्न पूछे जाएंगे। इसके अलावा 9वीं और 10वीं के पेपर 75- 75 अंक के होंगे। 11वीं और 12वीं के पेपर 80 नंबर के होंगे। 11वीं प्रोजेक्ट प्रैक्टिकल के आधार पर अंकों की संख्या में परिवर्तन किया जा सकेगा। इतना ही नहीं प्रैक्टिकल प्रोजेक्ट को लेकर भी नए नोटिस जारी किए गए है। जिसमें 9वी और 12वीं के लिए 5 अंक त्रैमासिक, 5 अंक अर्धवार्षिक परीक्षा , 15 नंबर प्रोजेक्ट में शामिल किए जाएंगे। जिसके बाद प्रायोगिक परीक्षा कुल 25 अंकों की आयोजित की जाएगी।

Must Read- MP Board: 9वीं से 12वीं के छात्रों को बोर्ड की ओर से मिली बड़ी राहत, प्रोजेक्ट और प्रैक्टिकल एग्जाम के लिए जारी किया गया नोटिस

बोर्ड के जनसंपर्क अधिकारी मुकेश मालवीय ने बताया कि राज्य शिक्षा बोर्ड ने निर्देश दिया है कि छात्रों को डमी एडमिट कार्ड और नामांकन कार्ड जारी किए जाएंगे। ताकि किसी भी प्रकार की त्रुटि हो तो उसमें तुरंत सुधार किया जा सके। डमी एडमिट कार्ड स्कूल के प्रिंसिपल के द्वारा डाउनलोड किए जाएंगे और छात्रों को वितरित किए जाएंगे। जिसके बात एडमिट कार्ड और नामांकन कार्ड में संशोधन करने के बाद प्राचार्य को घोषणा पत्र बोर्ड को भेजना होगा। बोर्ड अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि इस बार परीक्षा के समय ना तो एडमिट कार्ड में और ना ही किसी विषय को लेकर संशोधन किया जाएगा। वही इस सत्र से एक नई सुविधा भी शुरू की है। एमपी बोर्ड के 10 वी और 12वीं के छात्र परीक्षा के समय विषय चुनने में किसी भी तरह का बदलाव नहीं कर सकेंगे। जानकारी के लिए आपको बता दें कि इससे पहले छात्रों को यह सुविधा उपलब्ध कराई जाती थीकि परीक्षा शुरू होने के 1 दिन पूर्व तक छात्र विषय में बदलाव कर सकते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा है।