पहली बार रात में मिसाइल परीक्षण, 3500 किमी दूर के दुश्मन कर देगी तबाह

0
87

नई दिल्ली। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-3 का पहली बार रात में सफल परीक्षण किया गया है। ये मिसाइल परमाणु क्षमता से लैस होगी। साथ ही सतह से सतह पर अचूक निशाना लगाने वाली मिसाइल साबित होगी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ओडिशा तट पर एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप स्थित इंटिग्रेटेड टेस्ट रेंज से रात 7 बजकर 20 मिनट पर इस मिसाइल का प्रक्षेपण किया गया। अब यह मिसाइल के प्रक्षेपण पथ पर नजर रखी जा रही है। अग्नि-3 मिसाइल मध्यम दूरी तक मार करने वाली मिसाइल है, जिसकी मारक क्षमता 3,500 किलोमीटर तक है। मीडिया रिपोर्ट के अग्नि-3 मिसाइल पहले ही सेना में शामिल की जा चुकी है। इसकी लंबाई 17 मीटर, व्यास 2 मीटर और वजन करीब 50 टन है।

भारत की अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने दुनिया को बता दिया है कि हम किसी से कम नहीं है। भारत ने इस साल 11 महीनों में 11 मिसाइलों का सफल परीक्षण किया। इनमें कई मिसाइल ऐसी है, जो दुश्मनों को चंद मिनट में मिटा सकती है। नवंबर महीने में भारत ने पृथ्वी-2, अग्नि-2 और ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय सेना के बेड़े में एक ऐसा खतरनाक हथियार शामिल होने वाला है, जो परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम होगा।

इस मिसाइल का नाम के-4 होगा, इसका परीक्षण इसी साल कर लिया जाएगा। पानी से जमीन पर मार करने में सक्षम इस मिसाइल के परीक्षण भर से ही पाकिस्तान थर-थर कांप रहा है। मिसाइल मैन डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का सपना पूरा करते हुए इसरो ने अग्नि के ‘जल‘ अवतार के-4 की ताकत हासिल कर ली है। न्यूक्लियर बैलेस्टिक मिसाइल के-4 भारत के दुश्मनों को खाक करने के लिए तैयार हो चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here