वर्तमान में प्रदेश में 4 वेदर सिस्टम एक्टिव है। जिससे कुछ संभागों में वृजपात की चेतावनी जारी की है। प्रदेश के कुछ हिस्सों में अभी भी गरज-चमक के साथ झमाझम बारिश हो सकती हैं। लेकिन बन रहे चक्रवात की वजह से मौसम विभाग ने सावधान रहने को चेतावनी दी है। उम्मीद लगाई जा रही हैं कि इस चक्रवात से किसी को कोई नुकसान नहीं हो। आसमान में चक्रवात चक्रवाती तूफान बनने की वजह से ग्वालियर के आसपास के शहरों में भी हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है और इसका असर भोपाल तक दिखाई देने की सम्भावना है।

बीते 24 घंटे की स्थिति

मौसम विभाग के अनुसार बीते 24 घंटे के मुताबिक प्रदेश के कई जिलों से मानसून ने विदा लेली है तो कहीं अभी भी बारिश का दौर जारी है। कही स्थानों पर बादल छाए हुए हैं और हल्की मध्यम बारिश का असर देखने को मिल रहा है। मौसम विभाग के अनुसार कुछ संभागों सहित कई जिलों में बारिश हुई। हालांकि अभी तक कटनी, श्योपुर, सिंगरौली, बड़वानी, नरसिंहपुर, सिवनी, ग्वालियर, धार, बालाघाट, भिंड, दमोह, झाबुआ, खरगोन, मुरैना, सागर, डिंडौरी, टीकमगढ़, अशोकनगर, शहडोल, सतना, पन्ना, उमरिया, अनूपपुर, रायसेन, आगर मालवा, देवास, शिवपुरी, छतरपुर, सीहोर, इंदौर, उज्जैन, रतलाम, नीमच, मंदसौर, खंडवा, शाजापुर, विदिशा, हरदा, नर्मदापुरम, बेतुल, देवास मे पर्याप्त वर्षा दर्ज हुई। अगले 2 दिन नागालैंड, मणिपुर, असम, त्रिपुरा, मेघालय, मिजोरम में हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है।

मौसम पूर्वानुमान

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार अगले 24 घंटे में इन जिलों में बारिश होने की संभावना हैं, IMD ने इन जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया है जिसमें भोपाल, बुंदेलखंड, ग्वालियर, नर्मदापुरम, श्योपुरकला, महाराष्ट्र, भघेलखण्ड, चंबल, रायसेन, छत्तीसगढ़, शिवपुरी, ग्वालियर, छतरपुर, सीधी, रीवा, दमोह, अशोकनगर, सीहोर, विदिशा, पन्ना, टीकमगढ़, राजगढ़, देवास, हरदा, गुना, दतिया, सिंगरौली, भिंड, मुरैना, सतना, सागर में हल्की बारिश की संभावना है।

24 घंटे में बारिश की संभावना

अगले 24 घंटे में नागालैंड, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, दिल्ली एनसीआर, पूर्वोत्तर भारत,असम, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, पूर्वी राजस्थान, झारखंड, पूर्वोत्तर राजस्थान, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, हरियाणा, पंजाब, सिक्किम, ओडिशा, अंडमान-निकोबार, मराठवाड़ा, गोवा, बिहार, लक्षद्वीप, मध्यप्रदेश, विदर्भ, कोंकण, तेलंगाना में हल्की बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग का यह भी अनुमान है कि 15 अक्टूबर के आस-पास मानसून एमपी से विदाई ले सकता है।

Must Read- फैंन को ऑटोग्राफ देते हुए Rashmika को आई शर्म, वीडियो देख फैंस कर रहें कॉमेंट

मानसून ट्रफ

मौसम विभाग के मुताबिक प्रदेश मानसून का सिलसिला अब थमने वाला है। मौसम में बड़ा परिवर्तन देखने को मिलेगा। हालांकि अभी 4 वेदर सिस्टम एक्टिव है। जिसकी वजह से लगातार नमी बन रही हैं और कई स्थानों पर मध्यम बारिश हो रही है। बताया जा रहा है कि एक पश्चिमी विक्षोभ ट्रफ के रूप में पाकिस्तान में पश्चिमी विक्षोभ ट्रफ के रूप में सक्रिय हैं। उत्तर-पूर्वी राजस्थान पर के ऊपरी भाग में चक्रवात सक्रिय हैं। वहीं आंध्रप्रदेश के तट पर हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात सक्रिय है जो कम दबाव के क्षेत्र में बदलकर आगे बढ़ गया है और ऐसी स्थिति 1 से 2 दिन दिनों में पूर्वी मध्यप्रदेश में कहीं स्थानों पर बारिश होने की आशंका है।

29 सितंबर तक होगी मानसून की विदाई

आपको बता दें कि पहले मानसून पश्चिमी मध्यप्रदेश उसके बाद मध्य क्षेत्र और उसके बाद पूर्वी मध्यप्रदेश में इस तरह से मानसून विदा लेगा। लेकिन बताया जा रहा है कि मौसम में हो रहे परिवर्तन के कारण मानसून अक्टूबर माह में पहले या दूसरे सप्ताह के बाद विदाई लेले। लेकिन कुछ दिन कई जिलों में झमाझम बारिश की संभावना हैं। मौसम में हल्की ठंड की लपलपी भी लोग महसूस कर रहे हैं। मानसून अब जल्दी विदा लेने वाला है लेकिन ठंड ने अभी से दस्तक दे दी है। 3 दिन बाद मानसून की विदाई की संभावना है। कुछ राज्यों में मानसून अभी भी सक्रीय हैं। कुछ दिन बाद उत्तरी-पश्चिमी भारत के राज्यों से दक्षिणी-पश्चिमी मानसून की विदाई शुरू होगी।