रोजगार क्रांति का जनक बना ‘लुक चुप’ एप

इस एप को तैयार करने वाली कंपनी मेगा माइंड ट्रेकर कंसल्टेंसी सॉफ्टेक प्रायवेट लिमिटेड की स्थापना 14 नवंबर 2017 को भारत में हुई। इस कंपनी के निर्देशक सचिन सिसौदिया, शैलेन्द्र उपाध्याय औऱ नीलम उपाध्याय हैं। यह एक आईटी कंपनी है।

0
123
MMTCS

इंदौर: इंदौर के कुछ युवाओं ने मिलकर भारतीय सोशल मीडिया एप ‘लुक चुप’ तैयार किया है। महज दो सालों के भीतर यह एप जबर्दस्त पॉपुलर हो गया है। यह प्लेटफार्म भारत में रोजगार क्रांति ला रहा है। इससे अभी तक 25 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिल चुका है और लगातार पढे-लिखे नौजवान इसे अपना कर पैसा कमा रहे हैं।

देश में अब सोशल मीडिया से जुडे कई कारोबारों का बडा जाल फैल चुका है। मल्टीनेशनल कंपनियां पूरी दुनिया में अपना जाल फैला रही है। इन कंपनियों से लोगों को रोजगार मिल रहा है। इन मल्टीनेशनल कंपनियों की फेहरिश्त में इंदौर के युवाओं की एक भारतीय कंपनी ने अपना बेहतरीन एप बनाया है। इस एप का नाम है ‘लुकचुप’ एप। इस एप की एक नहीं कई तरह की खासियत है। यह एप इंदौर के रहने वाले प्रतिभावान सचिन सिसौदिया औऱ शैलेन्द्र उपाध्याय की कंपनी मैगा माइंड ट्रेकर कंसल्टेंसी सॉफ्टेक प्रायवेट लिमिटेड ने बनाया है। इस एप से अब तक कई हजार लोगों को रोजगार मिल चुका है और लगातार मिलता भी जा रहा है। लुकचुप एप 2017 में भारत में लांच हुआ।

‘लुक चुप’ एप डाउनलोड करने के बाद इसमें आप फेसबुक की तरह अपनी प्रोफाईल बना सकते हैं। बगैर किसी वेब डिजाईनर को पैसा दिए आप खुद ही अपनी वेब साईट डिजाईन कर सकते हैं। कंपनी के डायरेक्टर सचिन सिसौदिया आत्मविश्वास से भरे हुए हैं। उनका कहना है कि कंपनी का मकसद लोगों में डिजीटल प्लेटफॉर्म को उपयोग कर अपने बिजनेस को पंख लगाना है। लोगों में ज्यादा से ज्यादा जागरुकता फैले और वेब के जरिए बिजनेस क्रांति आ यह उनका सपना है। सचिन का कहना है कि डिजिटल कंपनियों को बढावा देकर समाज और व्यवसाय में क्रांति लाकर डॉलर और रुपए की कीमत को एक समान करना है। सचिन का कहना है कि इस एप में कई तरह के फीचर्स हैं। एप में आप रिज्यूम बना सकते हैं। और आप चाहें तो ब्लॉग बनाकर कमाई कर सकते हैं। इसके अलावा आप इसमें फोटो एडिट कर सकते हैं। इस एप के जरिए आप अनगिनत फ्रेंड्स को जोड सकते हैं जबकि फेसबुक में यह दायरा लिमिटेड हैं। यह एप पूरी तरह निशुल्क हैं। इसके जरिए किसी भी सोशल मीडिया का एप चलाया जा सकता है। ‘लुक चुप’ के 3 वर्जन हैं।

इस एप को तैयार करने वाली कंपनी मेगा माइंड ट्रेकर कंसल्टेंसी सॉफ्टेक प्रायवेट लिमिटेड की स्थापना 14 नवंबर 2017 को भारत में हुई। इस कंपनी के निर्देशक सचिन सिसौदिया, शैलेन्द्र उपाध्याय औऱ नीलम उपाध्याय हैं। यह एक आईटी कंपनी है। जिसका मुख्यालय इंदौर में है। इस कंपनी का उद्देश्य है देश में रोजगार बढाकर बेरोजगारी को जड मूल से खत्म करना। फिलहाल बहुत थोडे ही समय में कंपनी के ‘लुक चुप’ को करीब साढे 4 लाख लोग डाउनलोड कर चुके हैं। कंपनी भारत भर में 400 से अधिक शहरों में अपनी सेवाएं दे रही है। कंपनी ने साल 2019 में तीन और प्रोजेक्ट शुरु किए हैं। इनमें एयर वर्ल्ड, मेकटेक और जस्ट सॉल्यूशन शामिल है। फिलहाल कंपनी देश के लगभग सभी 27 राज्यों मे अपना काम कर रही है।

कंपनी के डॉयरेक्टर सचिन सिसौदिया का कहना है कि यह देश का पहला स्वेदेशी एप और वेब है। यह एप केवल मनोरंजन ही नहीं बल्कि एजुकेश भी देता है। यह एप डिजीटल इंडिया और डिजीटल वर्ल्ड़ के लिए भी काम कर सकता है। सचिन का कहना है कि वे बेहद सस्ती वेबसाइट लेकर आ रहे हैं जिसे उन्होंने वेब सेट का नाम दिया है। इसका डोमेन भी सस्ती दरों मे दे रहे हैं। इसकी बडी से बडी वेबसाईट्स भी हमारी कंपनी 299 रुपए में बनाकर देगी। हमारा मकसद कंपनी और बिजनेस के ग्रासरुट लेबल तक ले जाना है।

सचिन बताते हैं कि जो चीज लोगों को सस्ती मिलना चाहिए जैसे साफ्टवेयर, वेबसाइट्स लेकिन यह मंहगा होता जा रहा है। जो सॉफ्टवेयर 50 हजार के मिलते हैं उन्हें दो से ढाई हजार रुपए मे हमारी कंपनी उपलब्ध कराएगी। इससे बिजनेस करना बहुत आसान होगा। बडी कंपनियां तो एप के जरिए आसानी से अपना कारोबार कर रही है लेकिन छोटे-छोटे बिजनेस यह काम एप या डिजीटल दुनिया के जरिए नहीं कर पा रहे हैं। हमारा मकसद इन कारोबारों को डिजीटल के जरिए बढाना है। हमने डोमेन, डिजाईनिंग और मार्केटिंग के पैसे को खत्म करते हुए डिजीटल मार्केट को सस्ता और आसान बनाया है। हमारा उद्देश्य स्टार्टअप इंडिया, डिजीटल इंडिया के सरकार के सपने को पूरा करना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here