इस एक रैली से हुई थी मजदूर दिवस की शुरुआत, जाने इससे जुड़ी कुछ ख़ास बाते

0
35

नई दिल्ली: 1 मई को पूरी दुनिया अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाता है। आज इस मौके पर कई कंपनियों में राष्ट्रीय अवकाश रहता है। दुनियाभर में यह दिन साल 1886 से मनाया जाने लगा, लेकिन भारत में इसकी शुरुआत साल 1923 से हुई। आज इस मौके पर हम आपको बताते है कि आखिर इस दिन की शुरुआत हुई कैसे-Image result for इस एक रैली से हुई थी मजदूर दिवस की शुरुआतइस दिन को मनाने के पीछे उन मजदूर यूनियनों की हड़ताल है जो कि आठ घंटे से ज्यादा काम ना कराने के लिए की गई थी। इस हड़ताल के दौरान शिकागो की हेय मार्केट में बम ब्लास्ट हुआ था, जिससे निपटने के लिए पुलिस ने मजदूरों पर गोली चला दी थी। पुलिस की इस फायरिंग में सात मजदूरों की मौत हो गई थी।   Image result for इस एक रैली से हुई थी मजदूर दिवस की शुरुआतइसके बाद साल 1889 में पेरिस में अंतरराष्ट्रीय महासभा की द्वितीय बैठक में फ्रेंच क्रांति को याद करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया गया। इस प्रस्ताव के बाद ही इस दिन को मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। इसके साथ ही अमेरिका में मात्र 8 घंटे ही काम करने की इजाजत दे दी गई। Related imageवही भारत की बात करे तो यहां 1 मई 1923 से मजदूर दिवस मनाना शुरू किया गया। भारत में इस दिन की शुरुआत चेन्नई से हुई थी। उस समय इस को मद्रास दिवस के तौर पर मनाया जाता था।Image result for इस एक रैली से हुई थी मजदूर दिवस की शुरुआत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here