आधार कार्ड (Aadhaar card) हमारी आईडेंटिटी के तौर पर काम करता है. ये डिजिटल या ऑफलाइन हमारी आईडेंटिटी को अलग-अलग जगह दर्शाता है. आधार कार्ड आज एक बेस डॉक्यूमेंट बन गया है जो हमारी जिंदगी से जुड़ी हर चीज के साथ अटैच है. स्कूल में बच्चों का एडमिशन कराना हो या कोई बड़ा लेनदेन हो, हर जगह आधार कार्ड की जरूरत बतौर आईडेंटिटी हमें पड़ती है. इंटरनेट के आने के बाद से डिजिटल फ्रॉड के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. फ्रॉड करने वाले लोग आधार कार्ड की जानकारी हासिल कर लोगों के अकाउंट से पैसा साफ कर रहे हैं. ऐसे में ये जरूरी है कि आप अपने आधार कार्ड को सुरक्षित रखें. आज इस लेख के माध्यम से जानिए कि आप अपने आधार कार्ड को कैसे सुरक्षित रख सकते हैं.

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण या यूआईडीएआई ने शुक्रवार को आधार कार्ड के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए एक हेल्पलाइन नंबर साझा किया है. ये नंबर 24*7 एक्टिव है जिस पर आप आधार कार्ड से जुडी कोई भी शिकायत दर्ज कर सकते हैं.

ये गलती  करें
हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि आधार ओटीपी को कभी भी किसी दूसरे व्यक्ति के साथ शेयर न करें. कई बार लोग आधार कार्ड को डाउनलोड करने के लिए सार्वजनिक कंप्यूटर का उपयोग करते हैं और फिर अपना डाटा क्लियर करना भूल जाते हैं. ऐसे में आपके आधार कार्ड का गलत इस्तेमाल किया जा सकता है. इससे बचने के लिए हमेशा आधार को यूआईडीएआई की वेबसाइट से डाउनलोड करें और पर्सनल कंप्यूटर पर ही ये काम करें. अगर ऐसा संभव नहीं है तो तब सार्वजनिक कंप्यूटर का उपयोग करें और काम खत्म होने के बाद सभी निजी जानकारी कंप्यूटर से हटा दें.

बायोमेट्रिक को कर सकते हैं लॉक
आप चाहें तो अपने बायोमेट्रिक डाटा को लॉक कर सकते हैं. इसके लिए आपको आधार कार्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. यहां माय आधार के ऑप्शन को चुने और आधार सेवाओं पर लॉक माय बायोमैट्रिक पर क्लिक करें. इसके बाद एक नया पेज खुलेगा, बॉक्स को चुने और आधार कार्ड और कैप्चा डालकर मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी को भरें. ओटीपी को डालने के बाद इनेबल लॉकिंग फीचर पर क्लिक करें जिसके बाद आपका बायोमैट्रिक डाटा लॉक हो जाएगा. आप जब चाहें इस डाटा को अनलॉक भी कर सकते हैं.

Also Read – Business Idea: सरकार की मदद से शुरू करें ये 5 बिजनेस, हर महीने होगा तगड़ा मुनाफा, लाखों की होगी इनकम