Homeइंदौर न्यूज़Indore News : इंदौर पुलिस ने महिला के अंधे कत्ल का 24...

Indore News : इंदौर पुलिस ने महिला के अंधे कत्ल का 24 घंटे में किया पर्दाफाश

Indore News : पुलिस थाना कनाडिया पर दिनांक 15.12.2021 को सूचना प्राप्त हुई कि बिचौली हप्सी रोड पर मेहता के खेत में एक महिला की रक्त रंजित लाश पड़ी हुई हैं।

Indore News : पुलिस थाना कनाडिया पर दिनांक 15.12.2021 को सूचना प्राप्त हुई कि बिचौली हप्सी रोड पर मेहता के खेत में एक महिला की रक्त रंजित लाश पड़ी हुई हैं। जिस पर थाना कनाडिया पर मर्ग क्रमांक 12/21 धारा 174 जा.फौ. का पंजीबद्ध किया जाकर जांच में लिया गया। जांच के दौरान मृतिका की पहचान भगवतीबाई पति आशाराम मेवाडे उम्र 44 साल निवासी ग्राम तलवाडा तहसील अंजड जिला बडवानी के रूप में हुई, जिस पर शवपंचायतनामा लिया जाकर पोस्टमार्टम कराया गया। जिसमें डाक्टर द्वारा मृतिका की मृत्यु चेहरे, सिर में आई चोटों से एवं गला दबाने के कारण होने से हत्या होना पाया। जिस पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध हत्या का प्रकरण पंजीबद्ध किया जाकर विवेचना में लिया गया।

घटना की गंभीरता को देखतें हुए पुलिस आयुक्त इंदौर शहर हरिनारायणचारी मिश्र एवं अति. पुलिस आयुक्त इन्दौर शहर मनीष कपूरिया द्वारा उक्त अंधे कत्ल का पर्दाफाश कर अज्ञात आरोपी की शीघ्र पतारसी करने के निर्देश दिये। उक्त निर्देशों के पालन में पुलिस उपायुक्त झोन 01 एवं 02 आशुतोष बागरी एवं अति पुलिस उपायुक्त जोन 02 राजेश रघुवंशी के मार्गदर्शन मे सहायक पुलिस आयुक्त खजराना जयंत सिंह राठौर द्वारा दिए गए दिशा निर्देशानुसार थाना प्रभारी कनाडिया की एक टीम गठित कर लगाया गया।

Also Read – Ujjain News: रूद्र सागर में एक बूंद भी नहीं मिलेगा सीवरेज का पानी, कलेक्टर ने दिए निर्देश

पुलिस टीम द्वारा तत्परता से कार्यवाही करते हुए मृतिका के इंदौर पहुंचने के संबंध में जानकारी एकत्रित की जिसमें ज्ञात हुआ कि मृतिका अपने गांव से करीब 2 महीने पहले इंदौर शहर में मूसाखेडी इलाके में अपने दोनों बेटों को बिना बताये रहने आई थी तथा गांव में भी मृतिका बेटे से अलग रहती थी। मृतिका इंदौर रहने वाले अपने बेटे के पास न रहते हुये कुछ ही दूरी पर अलग किराये के कमरे में रहती थी। दोनों पुत्रों द्वारा मृतिका की महीनों से कोई खोज खबर नहीं ली गई थी तथा दोनो पुत्रों से भी मृतिका के संबंध अच्छे नहीं थे। इस कारण से प्रथम दृष्ट्या इंदौर शहर में रहने वाले पुत्र पंकज पर पुलिस को शंका हुई।

मुसाखेडी इलाके मे मृतिका के रहने के स्थान पर पतारसी करने पर घटना दिनांक से दो तीन दिन पहले मंदिर पर रहने तथा एक दिन पूर्व ही मृतिका द्वारा किराये का मकान खाली कर मुसाखेडी चौराहे के आसपास किराये का मकान लेना पता चला। जिस पर उक्त स्थान से मुसाखेडी चौराहे तरफ जाने पर प्रत्येक रास्ते पर सीसीटीव्ही फुटेज तलाश किये गये, सीसीटीव्ही फुटेज चेककर लगातार कड़ी बनाते हुये मुसाखेडी चौराहे के पास मनीष डाबे वाली गली के पास तक महिला का सामान लेकर जाना ज्ञात हुआ। जिस पर उक्त स्थान के पास लगे सीसीटीव्ही फुटेज तलाश करने पर मालिक दिनेश मिश्रा के पास पुलिस दल के पहुंचने पर दिनेश मिश्रा द्वारा सीसीटीव्ही कैमरे खराब होने का बहाना बताया गया।

तब पुलिस टीमों द्वारा आसपास के कैमरे तलाश करते दिनेश मिश्रा के मकान के पास लगे सीसीटीव्ही कैमरे की रिकार्डिंग देखने घटना दिनांक व समय से करीब 6 घटें पूर्व रात्री के लगभग 01 बजे दिनेश मिश्रा के मकान से दिनेश मिश्रा द्वारा एक महिला को बाजुओं में उठाकर कार में रखना तथा अन्य सामान कार में रखना दिखाई दिया तथा दिनेश मिश्रा द्वारा बाजुओ में उठाकर कार में रखने वाली महिला की पहचान भगवती बाई होने पर कार के जाने के रास्तों के सीसीटीव्ही फुटेज चेक करते उक्त कार कनाडिया क्षेत्र में आना पता चला।

जिस पर दिनेश मिश्रा को पुलिस अभिरक्षा में लेकर हिकमतअमली से सघन पूछताछ करने पर पहले तो आनाकानी करने लगा लेकिन कुछ ही समय में अपने विरुध्द आये साक्ष्यों को देखकर दिनेश मिश्रा द्वारा जुर्म करना स्वीकार किया। जिस पर आरोपी दिनेश पिता हरिप्रसाद मिश्रा उम्र 40 साल निवासी म.न. 88 मूसाखेडी इटौर स्थाई निवासी ग्राम खमोरा थाना अंतर्रा जिला उ. प्र. को गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि उसके द्वारा मृतिका भगवती बाई से शारीरिक संबंध होना एवं घटना दिनांक से एक दिन पूर्व अपने मकान का कमरा किराये पर लेने आने पर संबंध बनाने पर मृतिका द्वारा साथ रहनें एवं शादी करने का दवाब बनाने पर आरोपी दिनेश द्वारा समाज परिवार में अपनी इज्जत खराब होने के डर से मृतिका का रात्री में ही अपने शरीर पर पहने हुये जनेऊ से गला घोट दिया और अपनी कार मे मृतिका को सामान सहित रखकर बिचौली हप्सी रोड पर खेत में फेंक दिया, तथा मृतिका का चेहरा बिगाडकर पहचान छुपाने के उद्देश्य से पास ही पड़े पत्थर व ईंट से वार करना बताया। आरोपी से घटना के संबंध में विस्तृत पूछताछ की जा रही है।

उक्त सराहनीय कार्य में थाना प्रभारी निरीक्षक जगदीश प्रसाद जमरे, उनि बलवीर सिंह रघुवंशी, सउनि नितिन कुमार भालेराव, का. प्र.आर. 838 योगेश झोंपे, आर 1895 नीरज मुंगेर, आर 1196 जगजीत जाट, आर मनोज पटेल, आर 1358 अमित भदौरिया की सराहनीय भूमिका रही।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular