जैन समुदाय का तीर्थ स्थल को पर्यटन स्थल बनाया जा रहा है। इसके लिए पूरा जैन समुदाय पिछले कुछ दिनों से इसका विरोध कर रहे। इसकी को लेकर अब मध्य प्रदेश के इंदौर महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने कहा कि, पवित्र स्थल श्री सम्मेद शिखर जी को स्वच्छतम स्थल बनाने की योजना बनाई जाए तथा इसे धार्मिक स्थल ही रहने दिया जाए।

इस मामले को लेकर जैन समुदाय शांत पूर्वक लगातार विरोध कर रहे है। इसी दौरान एक मुनि ने आमरण अनशन भी किया था। लेकिन बीते कल उनका निधन हो गया। मुनि के निधन के बाद अब एक और मुनि आमरण अनशन की घोषणा कर सकते है।

Also Read : चीन में कोरोना वायरस का मचा आतंक, कब्रिस्तान हुए फुल, सड़कों पर जलाई जा रही लाशें

बता दें, यह धार्मिक स्थल झारखंड के गिरिडीह जिले के पारसनाथ पहाड़ी में बना हुआ है। जो जैन समाज का जानामाना  स्थल है। इसको लेकर वहा की सरकार ने इसे पर्यटक स्थल के रुप में 250 पन्नों का एक मास्टर प्लान तैयार किया है।